कामाख्या धाम पर होगा भव्य दीपोत्सव

4

अयोध्या। रुदौली – राम नगरी अयोध्या में जहां एक तरफ भव्य राम मंदिर का निर्माण हो रहा है,तो वहीं दूसरी तरफ अयोध्या में कई महत्वपूर्ण स्थलों को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की तैयारी जोरों पर चल रही है।रुदौली विधानसभा के दक्षिणी छोर गोमती तट पर स्थित सिद्धपीठ मां कामाख्या धाम का विकास में आई गति।

भाजपा विधायक रामचंद्र यादव के अथक प्रयास से कामाख्या धाम पर्यटन स्थल पहले ही घोषित हो चुका है।अब इस मंदिर के पुनर्निर्माण का काम भी जल्द शुरू करने की तैयारी चल रही है। यह घोषणा मंगलवार को विधायक यादव ने पत्रकार वार्ता के दौरान कही है।

विधायक ने बताया कि जो मंदिर का मॉडल उन्होंने तैयार कराया है।वो सरकार को भेज दिया गया है।विधायक ने कहा कि माँ कामाख्या मंदिर धाम के भव्य पुनर्निर्माण के लिए 24 करोड़ की लागत से 13.80 हेक्टेयर की भूमि में मंदिर व नमामि गंगे प्रोजेक्ट के तहत मेधा ऋषि आश्रम के सौंदर्यीकरण के लिए 11 करोड़ की लागत से 10 हेक्टेयर की वन भूमि व 10 हेक्टेयर की ग्रामसभा की भूमि पर सौंदर्यीकरण का खाका शासन को भेजा दिया गया है। जिसमें इको गार्डन, वन्य अभ्यारण व सरोवर आदि प्रस्तावित है।

सुदूर के श्रद्धालुओं के ठहरने के लिए भी व्यवस्था कराई जाएगी। पार्क और रास्ते का निर्माण होगा। उन्होंने कहा कि नगर पंचायत का सृजन होने से मां कमाख्या धाम का और भी तेजी से विकास हो सकेगा। इससे पहले उन्होंने कामाख्या घाट को 51 हजार दीपों से जगमग करने की तैयारी की बैठक की।

हफ्ते भर से यहां साफ-सफाई का काम चल रहा है।विधायक ने अफसरों संग घाट व मंदिर परिसर का निरीक्षण कर जायजा लिया मंगलवार को उन्होंने विद्युत, पुलिस, राजस्व, वन, विकास विभाग के अफसरों संग मां कामाख्या धाम स्थित सर्किट हाउस में की। इस दौरान उन्होंने आगामी 22 अक्तूबर को कामाख्या घाट पर आयोजित होने दीपोत्सव को भव्य बनाने में तेजी से जुटने के निर्देश दिए।

बैठक में तहसीलदार प्रज्ञा सिंह, बीडीओ अखिलेश गुप्त, रशेष गुप्त, थानाध्यक्ष मनोज यादव, कार्यवाहक रेंजर वीरेंद्र तिवारी, डा.रविकांत वर्मा,प्रवेश पांडेय सचिन कौंधन, करिया शुक्ल, राकेश तिवारी, वीरेंद्र शर्मा,श्रवण दुबे, राजकिशोर सिंह आदि मौजूद रहे।

मनोज तिवारी ब्यूरो रिपोर्ट अयोध्या

Advertisement