अरविंद केजरीवाल तीसरी बार बने दिल्ली के मुख्यमंत्री, राज्यपाल अनिल बैजल ने दिलाई शपथ

54

आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री बन गए हैं. राज्यपाल अनिल बैजल ने उन्हें दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित समारोह में पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई. यह शपथ ग्रहण समारोह आम जनता के बीच हुआ. इस समारोह में अन्य किसी राज्य के मुख्यमंत्री को आमंत्रित नहीं किया गया है.

समारोह में केजरीवाल के अलावा टीम केजरीवाल के तौर पर मनीष सिसौदिया, सत्येन्द्र जैन, गोपाल राय, कैलाश गहलोत, इमरान हुसैन और राजेन्द्र गौतम ने भी शपथ ली. पिछले सप्ताह संपन्न हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने शानदार जीत दर्ज की थी. दिल्ली की 70 सदस्यीय विधासभा में पार्टी के 62 विधायक जीते हैं. शपथ ग्रहण समारोह में केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी आमंत्रित किया था, हालांकि प्रधानमंत्री का रविवार को बनारस में पूर्व निर्धारित कार्यक्रम होने के कारण वह उपस्थित नहीं हो सके. उनके अलावा दिल्ली के भाजपा सांसदों और विधायकों को भी आमंत्रित किया गया.

50 लोगों को विशेष तौर पर बुलाया

केजरीवाल ने शपथ ग्रहण से ठीक पहले ट्वीट करते हुए दिल्ली के लोगों से कहा कि अपने बेटे को आशीर्वाद देने के लिए रामलीला मैदान जरूर आइए. शपथ ग्रहण समारोह में उन्होंने सभी दिल्लीवासियों को निमंत्रण देने के साथ-साथ 50 लोगों को विशेष तौर पर बुलाया है. इनमें सफाईकर्मी, मेट्रो चालक, किसान आदि शामिल हैं.

शपथ ग्रहण के बाद केजरीवाल ने दिल्ली की जनता से कहा कि आपके बेटे ने तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली है. यह मेरी नहीं आपकी जीत है. दिल्ली के लोगों ने देश की राजनीति बदल दी. पिछले कार्यकाल में मैंने किसी के साथ भी सौतेला व्यवहार नहीं किया. फिर चाहे वह किसी भी राजनीतिक दल का हो, धर्म का हो. पिछले पांच साल में सभी के लिए काम किया. आगे भी मैं हर किसी को साथ लेकर काम करना चाहता हूं.

आगे कहा कि हम अपने प्रतिद्वंद्वियों को चुनाव प्रचार के दौरान की गई हर टिप्पणी के लिए माफ करते हैं और उनसे भी यही उम्मीद करते हैं. केजरीवाल ने यह भी कहा, ‘मैं दिल्ली को नंबर एक शहर बनाने के लिए केंद्र के साथ काम करना चाहता हूं. दिल्ली के सहज शासन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आशीर्वाद चाहता हूं.’ आम आदमी पार्टी ने दावा किया है कि कुल एक लाख लोग इस शपथ ग्रहण समारोह में जुटेंगे. केजरीवाल ने 2013 में पहली बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. इसके बाद वह 14 फरवरी 2015 को दूसरी बार मुख्यमंत्री बने.

Advertisement