इटली से आए दंपती की जांच, नहीं पाए गए कोरोना वायरस के लक्षण

रायबरेली। कोरोना वायरस से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम पूरी तरह से सजग है। इटली से लौटे भारतीय दंपती की जांच रविवार को स्वास्थ्य टीम गांव पहुंचकर की। जांच में कोरोना वायरस के लक्षण नहीं पाए गए। दंपती के अलावा परिवारीजनों की भी जांच की गई। नोडल अधिकारी का कहना है कि कोरोना वायरस को लेकर सतर्कता बरती जा रही है। खासकर विदेश से आने वाले लोगों की जांच कराई जा रही है।


सलोन कोतवाली क्षेत्र के करहिया बाजार बसंतपुर के रहने वाले युवक की लगभग चार माह पूर्व शादी हुई थी। इसके बाद दंपती फरवरी महीने में इटली घूमने गया था। दोनों 8 मार्च को इटली से वापस आ गए। इसकी भनक जब स्वास्थ्य विभाग की टीम को हुई तो नोडल अधिकारी एवं एडिशनल सीएमओ डॉ. नागेंद्र नोडल ने सुबह स्वास्थ्य टीम के साथ सलोन के बसंतपुर गांव पहुँचकर दंपती की जांच की।

नोडल अधिकारी ने बताया कि मौके पर टीम के साथ इटली से लौटे दंपती की जांच की गई, लेकिन कोरोना वायरस जैसे कोई लक्षण नहीं मिले है। इसकी रिपोर्ट डीएम को भेज दी गई है। नोवेल कोरोना वायरस के चलते छात्र-छात्राओं की सुरक्षा के मद्देनजर शासन स्तर पर लिए गए निर्णय को देखते हुए सभी शैक्षिक संस्थाओं (स्कूल-कॉलेजों) को 22 मार्च तक बंद कर दिया गया है।
इसके बावजूद कोचिंग संस्थाएं चल रही हैं। इस पर जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. चंद्रशेखर मालवीय ने फरमान जारी किया है कि अग्रिम आदेशों तक के लिए कोचिंग संस्थाओं बंद रहेंगे। अगर कोई कोचिंग संस्थान चलता हुआ पाया गया तो उसका पंजीकरण रद्द करते हुए कठोर कार्रवाई की जाएगी।

Advertisement