एंटीकप्सन टीम ने किसान से भूमि पैमाइश के नाम पर 10 हजार की रिश्वत लेते लेखपाल को दबोचा

17

महोबा,  बुंदेलखण्ड के महोबा जिले में एक और भ्रष्टाचार में लिप्त कर्मचारी को एंटीकप्सन टीम ने दबोच लिया है। कुलपहाड़ मे तैनात लेखपाल द्वारा किसान से 10 हजार रूपए की रिश्वत ली जा रहीं थी।  भ्रष्टाचार निवारण संगठन इकाई बांदा की टीम ने कस्बा कुलपहाड़ से एक लेखपाल गिरफ्तार कर थाना कबरई लेकर पहुची। टीम प्रभारी ने थाने में लेखपाल के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कराया है। तहसील कुलपहाड़ के सतारी गांव निवासी किसान सुरेंद्र सिंह सेंगर का भूमि विवाद चल रहा था।पीड़ित भूमि की पैमाइश कराने के लिए कई महीनों से लेखपाल के चक्कर लगा रहा था। भूमि पैमाइश के नाम पर तीन दिन पहले लेखपाल ने किसान से 10 हजार रुपये की मांग की। जिस पर किसान ने भ्रष्टाचार निवारण संगठन लखनऊ को मामले से अवगत कराया। एंटी करप्शन टीम बांदा के प्रभारी राजेश सिंह यादव, एसआई ओमप्रकाश और सनोज कुमार यादव टीम के साथ कस्बा कुलपहाड़ पहुंचे। कोतवाली के सामने एक रेस्टोरेंट में जैसे ही किसान ने लेखपाल देवेंद्र राजपूत को 10 हजार रुपये रिश्वत दी। तभी टीम ने उसे रंगे हाथों दबोच लिया।टीम गाड़ी में बैठाकर लेखपाल को थाना कबरई लाई और जहां लिखा पढ़ी की गई। टीम प्रभारी ने बताया कि किसान की शिकायत पर लेखपाल को रिश्वत लेते पकड़ा गया है। आरोपी लेखपाल देवेंद्र राजपूत के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया।

रिपोर्ट – राकेश कुमार अग्रवाल

Click