एडीएम-एसडीएम ने तराई क्षेत्र के बाद बाढ़ प्रभावित गांवों का किया निरीक्षण

20

एडीएम ने बाढ़ चौकी पर सभी विभाग की टीमों को मुस्तैद रहने का दिया निर्देश

भेलसर,अयोध्या। रुदौली तहसील क्षेत्र में लगातार बढ़ रहे सरयू नदी के जलस्तर से तराई क्षेत्र के इलाकों में बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है गांवों के चारों तरफ पानी ही पानी है ग्रामीणों का घरों से निकलना मुश्किल हो गया है जिससे ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। ग्रामीणों का कहना है कि अगर नदी का जल स्तर इसी तरह से लगातार बढ़ता रहा तो हम लोगों को पलायन करने पर मजबूर होना पड़ेगा।

सरजू नदी के लगातार बढ़ रहे जल स्तर को लेकर तराई क्षेत्र के बाढ़ प्रभावित गांवों का निरीक्षण करने के लिए मंगलवार को एडीएम एफआर महेंद्र कुमार सिंह ने एसडीएम रुदौली स्वप्निल यादव,तहसीलदार रूदौली प्रज्ञा सिंह व तहसील स्तरीय प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बाढ़ प्रभावित गांवों महंगू का पुरवा,कैथी,संडरी,पसैया,मुजेहना,पास्ता माफी,खैरी,सराय नासिर,कोटरा,मांझा सलाहपुर व शाहपुर सहित बाढ़ प्रभावित गांवों के महंगू का पुरवा,पसैया व कैथी सहित कई गांवों का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान एडीएम महेंद्र कुमार सिंह ने बाताया की रुदौली तहसील के बाढ़ प्रभावित तराई क्षेत्र में सरयू नदी का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है।जिससे कैथी,महंगू का पुरवा व पसैया जो एक राजस्व गांव के मजरे हैं इन गांवों में बाढ़ का पानी आया हुआ।

यह गांव प्रभावित हुए है लेकिन अभी लोग विस्थापित नहीं हुए हैं हमारी बाढ़ चौकी पर लगे अधिकारी लगातार बाढ़ प्रभावित लोगों के सम्पर्क में है उनकी हर जरूरतों के बारे सम्पर्क कर रहे हैं।जब एडीएम से बाढ़ प्रभावित गांवों में पशुओं के लिए चारा उपलब्ध नहीं होने के बारे में जानकारी की गई तो उन्होंने बताया कि पशुओं के चारे के लिए भूसे की व्यवस्था यहां की गई है।

अधिकारियों से कहा है वह किसानों से सपंर्क करके उसका आंकलन करके बताएं उनके लिए तत्काल व्यवस्था कराई जाएगी।उन्होंने राशन वितरण के बारे बताया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के गांवों में जाकर अधिकारियों से लगातार ग्रामीणों से सपर्क करने को कहा गया है बाढ़ प्रभावित लोगों को राहत पहुंचाने के लिए अधिकारी व टीमें लगातार लगी हुई जो कार्य कर रहे हैं।

राहत सामग्री की किट व पके हुए भोजन सहित जिस चीज की आवश्यकता पड़ेगी तत्काल उपलब्ध कराया जाएगा।उन्होंने बताया कि अभी प्रभावित क्षेत्र के कैथी,पसैया व महंगू का पुरवा के किसी घर मे पानी नहीं घुसा है और न किसी के विस्थापित होने स्थिति बनी है फिर भी हमारी बाढ़ चौकी पर मौजूद सभी अधिकारी लगातार लोगों से सम्पर्क कर उनकी जरूरतों का आंकलन कर रहे है।

उनको जिस चीज की आवश्यकता होगी उन्हें तत्काल उपलब्ध कराया जाएगा और लोगों की जरूरतों के मुताबिक आज भी मुहैया कराया जा रहा है।अधिकारियों को किसानों की फसलों को नुकसान होता है तो उसका आंकलन करके सहायत प्रदान की जाएगी।

महंगू का पुरवा गांव के घरों में घुसा बाढ़ का पानी

वहीं महंगू का पुरवा निवासी अनिल यादव,रघुनाथ यादव,नकछेड यादव,राम जियावन,रामतिलक, राम सुफल,राम नेवल, राम प्यारे यादव, देशराज यादव ने बताया की महंगू का पुरवा गांव के घरों में पानी घुस गया है लोगों का घरों से निकलना मुश्किल हो गया है।

वहीं सल्लाहपुर व सडरी गांव निवासी भगवंत यादव,बलवंत यादव,रामकुमार,जगदीश, सियाराम,पवन यादव,रामअचल, सत्यप्रकाश,रामपाल,लालबक्स यादव,चन्द्र प्रकाश तिवारी ने बताया कि नदी का जलस्तर पढ़ने से गांव में पूरी तरह से जलभराव है और लोगों को आवागमन में काफी कठिनाई हो रही है लोगों बाहर निकलना मुश्किल हो गया है।

ऐसे में जानवरो के खाने के चारे के लिए सबसे बड़ी समस्या खड़ी हो गई है।इन ग्रामीणों ने बताया कि लगातार बढ़ रहे सरजू नदी के जलस्तर को देखते हुए लोग भयभीत हैं गांवों के रास्ते मे पानी भर जाने के कारण बच्चों का स्कूल जाना भी बंद हो गया है।

रिपोर्ट- मनोज कुमार तिवारी

Click