ओडीएफ की झूठी रिपोर्ट लगाने में जिले के अधिकारी हो गए माहिर, देखे एक्ससीलुल्सिव खबर

79

खाऊ कमाऊ नीति के चलते जा रही है इज्जत घर की इज्जत,स्वच्छ भारत मिशन को अधिकारियों ने बनाया मजाक

रायबरेली

रायबरेली के ज्यादातर गांव को स्वच्छ भारत मिशन योजना के तहत ओडीएफ तो घोषित कर दिया गया लेकिन हकीकत इसके उलट उस समय नजर आती है जब गांवो की हकीकत सामने आती है।ताजा मामला जिले के महराजगंज तहसील के ओथी व रानी के पुरवा गांव का है जिन्हें ओडीएफ तो घोषित कर दिया गया है लेकिन ये गांव आज भी शौचालय के लिए तरस रहे है। यहां कागजों पर तो शौचालय का निर्माण कर दिया गया है और पूरे गांव को खुले में शौच मुक्त घोषित कर दिया गया हैं लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां कर रही है

तस्वीरों में दिख रहे शौचालय महराजगंज तहसील के ओथी गांव में बने है।इस गांव को ओडीएफ घोषित कर दिया गया है लेकिन आप साफ देख सकते है कि यंहा बने शौचालयों की क्या हालत है किसी मे दरवाजे नही तो किसी मे प्लास्टर नही तो कही पर लाभार्थी इनमें लकड़ी व कंडे भरे हुए है।आज भी यंहा के ग्रामीण खुले में शौच कर रहे है।लेकिन तहसील प्रशासन इसे ओडीएफ घोषित कर अपनी पीठ थपथपा रहा है। तस्वीरों में आप खुद देख सकते हैं कि यहां पर प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना स्वच्छ भारत मिशन को पलीता लगता नजर आ रहा है

मामले पर जब उपजिलाधिकारी विनय कुमार सिंह से बात की गई तो उन्होंने इसके लिए लोगो मे जागरूकता का अभाव बताया और उन्हें जागरूक करने के लिए कार्यक्रम चलाने की बात जरूर कही।

अनुज मौर्य/सन्दीप फ़िज़ा रिपोर्ट

Advertisement