कौशाम्बी: सरकारी भवन व् स्कूल बनाये गए क्वेरेन्टाईन सेंटर

10
20200330_125032
कौशाम्बी। जनपद में गैर प्रान्त व् जिलों से चलकर घर पहुंचने वाले लोगो को क्वेरेन्टाईन सेंटरों में रहने के सख्त निर्देश जिला प्रशासन ने जारी कर दिए है। सोमवार को जिला प्रशासन ने एक विज्ञप्ति जारी कर वाइरस के प्रति लापरवाही बरतने वालो लोगो कर कड़ी कार्यवाही की बात कही है। नगरीय व् ग्रामीण क्षेत्र के सरकारी भवनों व् स्कूल को क्वेरेन्टाईन सेंटर के रूप में विकसित किया गया है। जिसमे गैर जनपद, प्रान्त से आने वाले लोग 14 दिनों तक रहकर खुद को आइसोलेट करेंगे। 
 
गौरतलब है कि Covid-19 वाइरस महामारी के संभावित खतरे को देखते हुए पूरा देश लॉक डाउन से गुजर रहा है। ऐसे में गैर प्रान्त व् जनपदों में रहकर अपने परिवार की जीविका चलाने वाले लोग किसी न किसी तरह अपने घर पहुंचने लगे है। जिसके चलते गांव, कसबे में वाइरस के संभावित खतरे के रिस्क बढ़ गया है। खतरे के मद्देनज़र पहले से सतर्क प्रशासन ने गांव गांव, नगर पंचायत इलाको में क्वेरेन्टाईन सेंटर के रूप में सरकारी भवन व् स्कूलों को विकसित कर दिया है। इन सेंटरों में जनपद से बाहर से आने वाले लोगो को रहने, खाने, शौच आदि की व्यवस्था स्थानीय प्रधान, सेक्रेटरी को दी गई है। 
अतिरिक्त उप जिला मजिस्ट्रेट विनय कुमार गुप्ता ने बताया कि बड़ी संख्या में लोग अब अपने गांव कसबे में पहुंचने लगे है। जिसको लेकर काफी सतर्कता बरती जा रही है। हेल्थ चेकअप के बाद ग्रामीण स्तर पर बनाये गए क्वेरेन्टाईन सेंटरों में आगंतुक लोगो को 14 दिनों रहने की हिदायत दी गई है। निर्देशों का पालन न करने पर आगंतुक व् आगंतुक सदस्य के परिवार एवं जिनसे जिनसे वह संपर्क में आएगा उसके विरुद्ध एफआईआर दर्ज कर कठोर कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने यह भी बताया कि ऐसे लोगो को भी चिन्हित करने का काम किया जा रहा है, जो लाकडाउन में अपने गांव गली मोहल्ले में चौपाल, क्रिकेट, जुआ एवं सामूहिक खेलो में लिप्त पाए जायेगे। ऐसे चिन्हित लोगो को वाइरस फ़ैलाने का दोषी मान एफआईआर दर्ज कर कार्यवाही की जाएगी।
Advertisement