चर्चित पुलिस इंस्पेक्टर ने कैसे बचाये दो सौ रुपए

88

लोग लॉक डाउन के समय अपने अपने परिवार के साथ समय व्यतीत करने में लगे हैं, ऐसे में सबसे ज्यादा दिक्कत आ रही है बच्चों को संभालने में। लेकिन सीबीसीआईडी में तैनात इंस्पेक्टर अनिरुद्ध सिंह ना केवल अपने बच्चों को बखूबी सम्भाल रहे हैं बल्कि आज कल वो बच्चों के पर्सनल नाई भी बने हुए हैं। दरअसल, लॉक डाउन के दौरान बन्द दुकानों के चलते इंस्पेक्टर साहब खुद ही अपने बच्चे के बाल कटाने लग गए हैं। जिसका वीडियो उन्होंने अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर शेयर किया है।

कहलाते हैं रियल सिंघम

जानकारी के मुताबिक, कोरोना वायरस से जंग में पूरे देश को लॉक डाउन किया गया है, ताकि लोग सुरक्षित रहें और वायरस से बचे रहे। ऐसे में वाराणसी सीबीसीआईडी में तैनात इंस्पेक्टर अनिरुद्ध सिंह खुद ही अपने बच्चे आद्रिक के लिए नाई की भूमिका निभा रहे हैं। दरअसल, बार्बर की दुकानें बन्द होने के चलते उनके बेटे के बाल बढ़ते जा रहे थे। जिसे देखकर उन्होंने खुद ही कैंची उठा ली।

पहले तो उनके बेटे ने थोड़ा ना नकुर की लेकिन रियल सिंघम ने भरोसा दिलाया तो बेटा भी बाल कटवाने के लिए बैठ गया। ऐसे में उसके चेहरे पर डर के भाव दिख रहे है। दस मिनट में जब इंस्पेक्टर ने उसे सीधा दिखाया तो वो खुश हो गया। पूरे मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा हैं, जिसे लोग बहुत पसंद कर रहे हैं।

वाराणसी में है करेंट पोस्टिंग

इंस्पेक्टर अनिरुद्ध सिंह वाराणसी जिले में सीबीसीआईडी में तैनात हैं और वह 2001 बैच के इंस्पेक्टर हैं। अनिरूद्ध सिंह मूल रूप से जालौन के रहने वाले हैं। वह वाराणसी, जौनपुर और चंदौली में अपनी पोस्टिंग के दौरान काफी चर्चित रहे थे। वे अब तक 26 एनकाउंटर अपने नाम कर चुके हैं।

एनकाउंटर स्पेशलिस्ट अनिरूद्ध सिंह ने 2007 में ढाई लाख के ईनामी नक्सली संजय कोल को मुठभेड़ में मार गिराया था जिसके बाद उन्हे प्रमोशन दिया गया था। वहीं वाराणसी में 2005 में तैनाती के दौरान भी एक 50 हजार के इनामी बदमाश द्वारा गोली मारे जाने पर घायल होने के बावजूद उन्होने बदमाश को अकेले ही ढेर कर दिया था।

कई वेब सीरीजों में कर चुके है अभिनय

अनिरुद्ध अच्छे पुलिस वाले अच्छे इंसान के साथ अच्छे कलाकार भी है। उनकी कई वेब सीरीज भी चर्चित रही है। जिसमें रेड लैंड में उनके अभिनय को काफी सराहा गया।

Advertisement