जमी पर उतर आए देवदूत

228

विवेक चौरसिया ,महोबा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना के हमले के बाद से ही सोशल डिस्टेंसिंग को बढ़ाने और मानवीय डिस्टेंसिंग को घटाने की बात कही थी।लेकिन यह काम तो महोबा जिले में पिछले 5 साल से ज्यादा समय से चल रहा है। सूखे के क्रम आई आपदा के बाद महोबा में रोटी बैंक की शुरुवात हाजी पावेश उर्फ मुट्टन चच्चा ने की थी। 5 साल से निरंतर चल रहे रोटी बैंक ने कोरोना वायरस को देखते हुए रोटी बैंक की कार्य पध्दति में बदलाव कर अब खुद खाना बनवाकर बाटने का काम पिछले एक सप्ताह से जारी कर रखा है। मुट्टन चच्चा ने बताया कि पहले खाना लोगो के घर से लाकर दिया जाता था,पर अब खाना दूरदर्शन केंद्र में तैयार करवाकर लोगो के घरों में पहुचाया जा रहा है। निशक्त , विकलांग व असहायों लोगो के अलावा मूक पशुओ को भी लगातार भोजन कराया जा रहा है।

Advertisement