अफ्रीकन स्वाइन फीवर के बावजूद जिम्मेदार बरत रहे लापरवाही

48

सरेनी कांजीहाउस में मृत पड़े तीन सुअर,दुर्गंध से लोगों का सांस लेना दुश्वार
मृत सुअरों के सड़ जाने से बस्ती में फैली गंदगी पूर्ण बदबू
लोगों में भी बीमारी के फैलने का बढ़ गया खतरा
लालगंज, रायबरेली। सरेनी स्थित कांजीहाउस में तीन सुअरों के मृत शरीर पड़े हैं जो सड़ गए हैं! सुअरों के मृत शरीर सड़ जाने से बस्ती में गंदगी पूर्ण बदबू फैल रही है और आसपास के घरों में रह रहे लोगों का सांस लेना दुश्वार हो गया है!लोग ठीक से बदबू के चलते खाना-पीना भी नहीं कर पा रहे हैं!

साथ सी साथ लोग किसी गंभीर बीमारी के फैलने के खतरे से आशंकित व सहमे हुए हैं! सुअरों में फैली बीमारी पालतू पशुओं में भी फैलने की चिंता लोगों को सता रही है और जिम्मेदार हैं कि सिर्फ तमाशाई की भूमिका अदा कर रहे हैं!वहीं समाजसेवी सर्वेश कुमार पुत्र भगवती प्रसाद निवासी ग्राम-पोस्ट सरेनी ने खंड़ विकास अधिकारी सरेनी को पत्र के माध्यम से मामले से अवगत कराया है और शीघ्रातिशीघ्र इस गंभीर समस्या से निजात दिलवाने की मांग की है,ताकि गांव में कोई गंभीर बीमारी न फैल सके!

जबकि जिले में हुई सुअरों की मौत अफ्रीकन स्वाइन फीवर (एएसएफ) वायरस के संक्रमण से होने की पुष्टि के बाद पूरे जनपद में अलर्ट जारी कर दिया गया है!इससे इंसानों में खतरा बढ़ गया है!अफ्रीकन फीवर से अभी तक सुअर ही मर रहे हैं लेकिन इंसानों के प्रभावित होने का खतरा मंडराने लगा है,अगर यह बीमारी सुअरों से इंसानों में फैली तो समस्या खड़ी हो जाएगी!

हालांकि हाल ही में डीएम माला श्रीवास्तव द्वारा जारी आदेश के बाद जहां सुअरों के मांस की बिक्री पर प्रतिबंध रहेगा वहीं सुअरों के बाड़े से निकालने पर भी रोक रहेगी!

उल्लेखनीय है कि जिले में अफ्रीकन स्वाइन फीवर वायरस दस्तक दे चुका है,जिसकी परीक्षण रिपोर्ट 17 अगस्त को प्राप्त हुई है!रिपोर्ट में अफ्रीकन स्वाइन फीवर वायरस की पुष्टि की गई है!वहीं जब इस संबंध में बीडीओ सरेनी राजीव सिंह से जानकारी लेनी चाही तो राकेश नामक व्यक्ति ने काल रिसीव की और कहा कि साहब पूजा कर रहे हैं,अभी आपकी बात करवा दूंगा!

रिपोर्ट- संदीप कुमार फिजा

Advertisement