ट्रेन से कटे युवक के दोनों पैर, शिवगढ़ का रहने वाला है युवक

370

अब अपने पैरों से नहीं चल सकेगा सनी

●गम्भीर हालत में लखनऊ ट्रामा सेंटर के लिए रेफर

● नौचंदी एक्सप्रेस से उतरते समय फिसल गया पैर, हुआ जिंदगी भर के लिए दिव्यांग

अंगद राही

रायबरेली। रायबरेली जिले के बछरांवा रेलवे स्टेशन पर उस समय एक हादसा हो गया जब नौचंदी ट्रेन से उतरते समय एक युवक फिसल गया और वह पटरी पर गिर गया।जिससे ट्रेन की चपेट में आने से उसके दोनों पैर कट गए।हादसे के बाद आसपास के लोगो ने उसे इलाज़ के लिए सीचसी बछरांवा पहुचाया। जहां पर युवक की हालत गंभीर देखते हुए प्राथमिक उपचार के पश्चात उसे ट्रामा सेंटर के लिए रिफर कर दिया गया। घटना रविवार की प्रातः 8 बजे की है। मेरठ से बछरावां आ रहा सनी (19) पुत्र रामकुमार निवासी बारी खेड़ा मजरे गूढ़ा थाना शिवगढ़ शिवगढ़ का रहने वाला है। जिसके दोनों पैर नौचंदी एक्सप्रेस के चपेट में आने से कट गए हैं। बताते हैं कि सनी को बछरावां रेलवे स्टेशन पर उतरना था किन्तु उसे नींद आ गई,बछरावां रेलवे स्टेशन पर जब नौचंदी एक्सप्रेस 1 मिनट के लिए खड़ी हुई और पुनः चलने के लिए सायरन दिया तो  उसकी नींद खुली। किंतु दुर्भाग्य जब तक वह उतरता ट्रेन चल चुकी थी,जिसके चलते ट्रेन से उतरते समय उसका पैर फिसल गया और वह हादसे का शिकार हो गया। जिससे ट्रेन की चपेट में आया युवक दोनों पैरों से दिव्यांग हो गया है। गनीमत रही कि युवक की जान बच गई। एक छोटी सी गलती ने युवक को जिंदगी भर के लिए दिव्यांग बना दिया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बछरावां के चिकित्सक डॉक्टर संजीव ने बताया कि युवक का काफी खून बह चुका था जिसकी हालत को नाजुक देखते हुए प्राथमिक उपचार पश्चात ट्रामा सेंटर के लिए रेफर कर दिया गया है।

टूट गया सपना

19 वर्षीय सनी अपने माता-पिता का इकलौता पुत्र था जो पिछले डेढ़ वर्षो से मेरठ में किसी फैक्ट्री में काम करता था। जो मेरठ से वापस घर के लिए आ रहा था तभी ट्रेन से उतरते समय बछरावां रेलवे स्टेशन पर वह हादसे का शिकार हो गया। परिवार की माली हालत होने के चलते सनी मेरठ में मजदूरी करता था। सनी ही अपने परिवार का एकमात्र सहारा था किंतु नियति को कुछ और ही मंजूर था। जो सनी मेहनत मजदूरी करके अपने मां बाप का सहारा बनना चाहता था आज उसे ही जिंदगी भर के लिए  दूसरे के सहारे की जरूरत पड़ गई।

Advertisement