ठग गिरोह का पुलिस ने किया खुलासा, 4 गिरफ्तार

49
कौशाम्बी | चरवा व् साइबर पुलिस ने संयुक्त कार्यवाही करते हुए बुधवार को नौकरी के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है | पुलिस मामले के 4 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर उसके पास से एक कार बरामद की है | कार में पुलिस को तमंचा, कारतूस, मोबाइल, नियुक्ति पत्र समेत अन्य कागजात मिले है | पुलिस अब आरोपितों के खिलाफ लिखापढ़ी कर जेल भेजने की कार्यवाही कर रही है |
 
गौरतलब है कि जनपद में पिछले कई अरसे से शिक्षा विभाग व् रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी का गोरखधंधा चल रहा था | फतेहपुर कौशाम्बी प्रतापगढ़ व् प्रयागराज जिले के कुछ शातिर भोले-भाले बेरोजगार लोगो को नौकरी दिलाने का झांसा देकर ठगी कर रहे थे | चरवा थाना क्षेत्र के रहने वाले जगदीश व् अशोक भी नौकरी पाने की आस में ठग गिरोह के सरगना पिंटू सिंह उर्फ़ विक्रम निवासी सलेमपुर थाना धाता जनपद फतेहपुर के चंगुल में फस गए | दोनों ने 6 व् 5 लाख रुपये नौकरी के नाम पर दे दिए | काफी समय बाद भी जब नौकरी नहीं मिली | पीड़ित ने चरवा पुलिस से शिकायत की | शिकायत पर सक्रीय हुयी स्थानीय थाना पुलिस ने साइबर यूनिट से मदद मांगी | पुलिस की ज्वाइंट टीम ने मंगलवार की देर शाम लगभग पौने 10 बजे चरवा थाना क्षेत्र के मिरकुंडी गांव के पास एक संदिग्ध कार यूपी 70 ईएस 8111 को रोक कर तलासी ली | कार से पुलिस को एक तमंचा, कारतूस, मोबाइल फोन, शिक्षा विभाग के नियुक्ति पत्र अंकपत्र ज्वाइनिंग लेटर रेलवे एवं अन्य दस्तावेज मिले है | पुलिस ने कार सवार पिंटू सिंह उर्फ़ विक्रम निवासी धाता फतेहपुर, शेरा उर्फ़ महेंद्र सिंह पुत्र राजेंद्र पटेल निवासी मंझनपुर, सुरेश पुत्र प्रकाश निवासी अलवारा महेवाघाट,वीरेंदर कुमार पुत्र रामप्रकाश निवासी भैरमपुर धाता फतेहपुर को कस्टडी में लेकर पूंछ-तांछ शुरू की | पुलिस को दिए अपने बयान में आरोपितों ने नौकरी के नाम पर ठगी करने का गुनाह कबूल कर लिया है | 
 
एडिशनल एसपी अशोक कुमार ने बताया है कि चरवा थाने में ठगी के दो मुकद्दमे पंजीकृत किये गए थे | विवेचना के दौरान सामने आया कि एक गिरोह टीईटी, एलटी ग्रेड व् रेलवे में सेटिंग करके परीक्षा दिलाने के नाम पर लोगो से रुपये लिए जाते थे | पुलिस 4 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है | अभियुक्तों ने शिक्षा विभाग व् रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर भी लाखो रुपये लेने की बात स्वीकार की है | पुलिस अब आरोपितों को जेल भेजने की कार्यवाही कर रही है | 
Advertisement