तालाब खुदाई में मिली प्राचीन मूर्ति का अवशेष

74
कौशांबी | सिराथू तहसील के अफजलपुरवारी गांव के तालाब की खुदाई के समय मंगलवार को प्राचीन काल की मूर्ति के अवशेष मिले है | अवशेष मिलने की जानकारी मिलते ही ग्रामीणों का मजमा लग गया | मूर्ति की नक्कासी और साज़-सज़्ज़ा देख मूर्ति के अवशेष को प्राचीन कालीन बता रहे है | मूर्ति के मिलने की सूचना मिलते ही सिराथू तहसीलदार मौके पर पहुंचे | उन्होंने खुदाई में मिले मूर्ति के हिस्से को अपने कब्जे के लेकर सुरक्षित स्थान पर रखा दिया है | पुरातत्व विभाग के अधिकारियो को सूचना भेजने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है | 
पइंसा थाना क्षेत्र के अफजलपुरवारी गांव स्थित सतीरा तालाब की खुदाई का कार्य लघु एवं सिंचाई विभाग द्वारा कराया जा रहा है | खुदाई के दौरान जेसीबी से पत्थर का टुकड़ा टकराया | जेसीबी चालक ने नीचे उतर कर देखा तो एक मूर्ति बेहद ख़ूबसूरत नक्कासी जड़ित मिटटी में पड़ी थी | उसने तत्काल सिचाई विभाग के अफसरों को उसकी सूचना दी | तालाब के तल से मूर्ति के अवशेष मिलने की सूचना जंगल की आग की भाति गांव में फ़ैल गई | मूर्ति देखने वालो का मजमा देखते ही देखते तालाब के आसपास लग गया | मूर्ति की बनावट और नक्कासी देख सिचाई विभाग के कर्मचारियों ने सिराथू तहसील प्रशासन को सूचना दी | मौके पर पहुंचे सिराथू तहसीलदार राकेश कुमार पटेल ने मूर्ति के अवशेष को पुरातात्विक महत्त्व का मानते हुए उसके अपने कब्जे में लेकर सुरक्षित स्थान पर रखवा दिया है | ग्रामीणों का कहना है कि तालाब में मिली मूर्ति के अवशेष प्राचीन मंदिर होने की तरफ इशारा कर रहे है | अधिकारियो को खुदाई का काम रोक कर पुरातत्व विभाग से इसकी जाँच करानी चाहिए ताकि तालाब के अंदर दबी अन्य पुरातात्विक अवशेष को सुरक्षित बाहर लाया जा सके | 
 
तहसीलदार सिराथू राकेश कुमार पटेल का कहना है कि तालाब में लघु सिचाई विभाग खुदाई करा रहा था | जिसमे प्राचीन काल की मूर्ति के अवशेष में सर का हिस्सा मिला है | जिसे सुरक्षित करा लिया गया है | आलाधिकारियों को सूचना दी गई है | जल्द ही पुरातत्व विभाग से संपर्क कर मूर्ति के अवशेष को सुपुर्द किया जायेगा | 
Advertisement