कोरोना पर क्या है डॉक्टरों की राय ? बता रहे हैं कोरोना फाइटर डॉ शिवकुमार

473

रायबरेली। कोरोना आज पूरे विश्व मे महामारी का रूप ले चुका है। इस फैलने से रोकने के लिए एक तरफ पूरे देश मे लॉक डाउन है तो दूसरी तरफ संक्रमित लोगो की जान बचाने में डॉक्टर जी जान से लगे हुए हैं। उन्हें न दिन की चिंता है न रात की बस एक मकसद है सेवा भाव। जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगो की जान बचाई जा सके।

डॉक्टरों की भी अपनी एक निजी लाइफ होती है। उनके भी अपने सपने होते हैं। किंतु इस पेशे में आने के बाद उनके सपनों का कोई महत्व नही रह जाता। सर पर एक ही जुनून रहता है कि ज्यादा से ज्यादा लोग चंगे होकर जाएं। आज जब ये बीमारी छूने से फैल रही है तो हम सब अपने घरों में बन्द है। अगर किसी कारण से बाहर जाना भी पड़ता है तो हम एक मीटर की दूरी पर खड़े होते हैं लेकिन इनको मरीज को छूना भी पड़ता है। ऐसे में जरा सी चूक होने पर सीधे जान पर बन आती है।

विषम परिस्थितियों में भी परिवार की जिम्मेदारियों के बीच कैसे मानवता की जिम्मेदारी निभाते हैं ये डॉक्टर ये जानना है तो रायबरेली में तैनात नाक कान गला विशेषज्ञ डॉक्टर शिव कुमार की बात सुनिए।

विदेश में कोरोना पीड़ितो की इलाज करने के दौरान कई डॉक्टर भी वायरस की चपेट में आगये जिससे उनकी मृत्यु हो गई। मगर इस सब से बेपरवाह डॉक्टर शिवकुमार से बात करते हुए हमारे वरिष्ठ पत्रकार अनुज मौर्य ने उनकी व्यक्तिगत और सामाजिक जिंदगी और जिम्मेदारी पर विस्तार से बात की। डॉक्टर ने बताया कि लोग प्रधानमंत्री जी के लाकडाउन का उलंघन कर नुकसान कर रहे हैं । हम लोग तो इलाज करेंगे ही लेकिन उन्हें भी समझना पड़ेगा। उनके समझाने के तरीके को लेकर एक वीडियो भी खूब सुर्खियां बटोर रहा है।

Advertisement