धनकुबेरों के गाल पर तमाचा मार ब्रजेश त्रिपाठी बन गए बड़े दानवीर

447

संदीप रिछारिया ( वरिष्ठ संपादक)

अगर भावना पवित्र हो तो नेकी को अपना रास्ता मिल जाता है। आपदा की इस घड़ी में जहाँ देश वे तमाम दानवीरों ने हाथ बटाने का काम किया है,वही चित्रकूट के दानवीर ने अपने खुद के संसाधनों के जरिये समाज को एक ऐसा सन्देश देने का काम किया है जिसकी मिशाल अभी तक देश मे कही पर दिखाई नही दी।

चित्रकूट में खुद के कुटीर उद्योग के जरिये धनिया, मिर्चा, हल्दी सहित अन्य भोजन समाग्री का उत्पादन करने वाले प्रिया मसाले के प्रोपाइटर ब्रजेश त्रिपाठी ने जिला प्रशासन को प्रताव दिया कि वह अपने माल की डिलीवरी अपने वाहन से घर घर जाकर देगे। उन्होंने डीएम से कहा कि ऊ के लिए रेट तय करने की जरूरत नही है क्योंकि आपदा की इस घड़ी में वह अपने माल को उत्पादन की लागत से कम पर बाजार में बेचेंगे। उन्होंने कहा कि वह उपभोक्ताओं तक समान एमआरपी से 50 फीसद कम रेट पर उपलब्ध कराएंगे। प्रशासन से अनुमति मिलने के बाद ब्रजेश ने शनिवार से अपना वाहन मुख्यालय में रवाना कर दिया। उन्होंने कहा कि उनका वाहन सुबह से शाम तक पूरे जिले में घूमकर लोगो के घरों में समान पहुचायेगा।

Advertisement