धूमधाम से मनाई गई संत गाडगे जी महाराज की जयंती

34

रायबरेली। – बाबा साहब डॉ0 अम्बेडकर के सामाजिक गुरु ‘राष्ट्र संत’ गाडगे जी महाराज की 144 वीं जयंती के अवसर पर उनकी प्रतिमा स्थल “संत गाडगे चौक” निकट जिलाधिकारी आवास रायबरेली पर एक संगोष्ठी का आयोजन ‘बहुजन शक्ति संघर्ष वाहिनी एवं विश्व दलित परिषद्’ के द्वारा संयुक्त रूप से किया गया।

इस दौरान सर्व प्रथम पूज्य भन्ते कमलशील ने उपस्थित सभी अनुयाइयों को त्रिशरण एवं पंचशील ग्रहण कराते हुए संतगाडगे जी के जीवन पर प्रकाश डाला।तथा महापुरुषों के बताये हुए सदमार्ग पर चलने का मार्गदर्शन किया, तत्पश्चात दोनों संगठनों के पदाधिकारियों एवं उपस्थित बुद्धिजीवियों ने राष्ट्र संत की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि करते हुए उनके आदर्शों को याद किया, शब्दों के माध्यम से संत गाडगे जी के प्रति कृतज्ञता श्रद्धेय समुझलाल धीमान,राम प्रसाद बौद्ध, CB गौतम, राजेन्द्र चौधरी,BL रावत ,देशराज पासी,अलोक चौधरी तथा रोहित चौधरी ने व्यक्त करते हुए अपने जीवन में संत गाडगे जी के आदर्शों को अपनाने तथा उनकी शिक्षाओं को जन-जन तक पहुँचाने का संकल्प लिया। आयोजक रोहित चौधरी ने संत गाडगे जी के विचारों की महत्ता एवं प्रासंगिकता का आकलन इस बात से किया कि अपने ज्ञान से प्रकाश से पूरे विश्व को प्रकाशित करने वाले डॉ अम्बेडकर ने गाडगे जी को अपना सामाजिक गुरु माना, संत गाडगे जी ने अनपढ़ होते हुए भी अपने भजनों एवं कीर्तनों के माध्यम से बच्चों की शिक्षा, स्वच्छ्ता, मादक पदार्थो से दूर रहने की शिक्षा लगातार गांव गांव जाकर देते रहे। उन्होंने लोगों के प्रयास से स्कूल भी खुलवाये।उनके द्वारा समाज में किये गए योगदान की वजह से आज महाराष्ट्र एवं आस पास के प्रदेशों में उनके नाम से अनेकों शिक्षण संस्थायें, अनाथालय, अस्पताल आदि उनके अनुयाइयों एवं स्थानीय सरकारों के द्वारा खोले गए, निश्चित ही ऐसी महान विभूति की जयंती पर समूचा राष्ट्र हर्षित है।

इस अवसर पर मीडिया प्रभारी देवेंद्र भारती ,सुशील कनौजिया, अरविन्द, अजीत प्रताप, प्रदीप, राजीव, राजन, अमित, बुद्ध प्रिय गौतम, सतनाम जेडी, दिनेश बाल्मीकि, शिवशंकर बाल्मीकि, कौसल कुमार, नागेश चन्द्र, इंद्रबहादुर,CL गौतम, आशीष चौधरी, महेश निर्मल, विश्लेष चन्द्र, शशिकांत यादव, गौरीशंकर, देशराज भारती, राजू मौर्य आदि बड़ी संख्या में मिशनरी साथी उपस्थित रहे।

इनपुट – नितेश चौधरी

Advertisement