बीकापुर के परिसीमन, वार्ड गठन और निकाय चुनाव को लेकर हलचल तेज

29

बीकापुर, अयोध्या। निकाय चुनाव जैसे-जैसे करीब आ रहा है, नगर पंचायत बीकापुर के सीमा विस्तारीकरण के परिसीमन, वार्ड के गठन, आरक्षण की स्थित को लेकर नगर पंचायत क्षेत्र में हलचल और चर्चा तेज हो गई है। विस्तारीकरण होने से नगर पंचायत का भौगोलिक क्षेत्रफल काफी बढ़ जाएगा। करीब 3 दशक पूर्व अस्तित्व में आई बीकापुर नगर पंचायत में अभी तक कुल 11 वार्ड शामिल हैं। नए सीमा विस्तार में 13 गांव शामिल होंगे।

सीमा विस्तार होने से दोगुनी हो जाएगी नगर पंचायत की आबादी

सीमा विस्तारीकरण होने से कई ग्राम पंचायतों का पूरी तरह नगर पंचायत में विलोपन हो जाएगा। विस्तारीकरण में शामिल 8 ग्राम पंचायतों के ग्राम प्रधानों के पद पर बने रहने के लिए असमंजस की स्थिति बनी हुई है। बीकापुर नगर पंचायत के सीमा विस्तार के लिए जारी की गई।

अधिसूचना के तहत बीकापुर विकासखंड के राजस्व गांव जलालपुर माफी, राजस्व गांव चांदपुर, राजस्व गांव पातूपुर, राजस्व गांव तोरो माफी, राजस्व गांव बैदौली, दुबावा, राजस्व गांव बसंतपुर, राजस्व गांव शेरपुर पारा, राजस्व गांव मरुई सहाय सिंह, पूरे बंसवन, राजस्व गांव हृदयी पुर, राजस्व गांव उसरी और खेमा सराय गांव को शामिल किया गया है। नगर पंचायत की कुल आबादी 2011 की जनगणना में 14453 थी।

अब नए सीमा विस्तार में नगर पंचायत की आबादी करीब 35000 हो जाएगी। नगर पंचायत की अधिशासी अधिकारी रागिनी वर्मा का कहना है कि नगर पंचायत का विस्तार होने से नगर पंचायत का राजस्व बढ़ेगा। अभी नगर पंचायत में 11 वार्ड शामिल हैं। विस्तारीकरण का कार्य पूरा होने पर नगर पंचायत की आबादी 35000 के करीब हो जाएगी। जिसके चलते 6 वार्ड और बढ़ेंगे। संभवतः 2000 की जनसंख्या पर 1 वार्ड का गठन किया जाएगा।

रिपोर्ट – मनोज तिवारी, अयोध्या

Advertisement