नेहरू युवा केंद्र का सामुदायिक विकास प्रशिक्षण का चित्रकूट में हुआ शुभारंभ

22

युवा नेतृत्व गांव की समस्या को पहचाने व निदान के लिए करें प्रयास – डॉ.अमरजीत सिंह

चित्रकूट । नेहरू युवा केंद्र पन्ना द्वारा तीन दिवसीय युवा नेतृत्व एवं सामुदायिक विकास प्रशिक्षण का शुभारंभ दीनदयाल शोध संस्थान चित्रकूट के उद्यमिता विद्यापीठ सभागार में महात्मा गांधी ग्रामोदय विश्वविद्यालय के प्राध्यापक एवं मुख्यमंत्री सामुदायिक नेतृत्व विकास कार्यक्रम के निदेशक डॉ. अमरजीत सिंह, दीनदयाल शोध संस्थान के सचिव डॉ अशोक पांडे एवं नेहरू युवा केंद्र पन्ना की जिला युवा समन्वयक गगनदीप कौर द्वारा मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन कर किया गया।

डॉ. अमरजीत सिंह ने अपने उद्बोधन में कहा कि युवा साथियों को नेतृत्व करने के लिए गांव की समस्याओं की पहचान करना होगा और छोटी-छोटी समस्याओं के निदान के लिए प्रयास करें। गांव के सामुदायिक विकास के लिए शासन द्वारा चलाई जा रही योजनाओं से स्वयं परिचित हो और जिन्हें इन योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा उनको लाभ दिलाने में मदद करें। जिससे आपकी पहचान उस क्षेत्र में बने।

उन्होंने कहा कि मुझे अपार खुशी हो रही है कि पन्ना के युवाओं के लिए यह प्रशिक्षण का आयोजन है। ग्रामोदय विश्वविद्यालय द्वारा पन्ना में नेहरू युवा केंद्र के सहयोग से ग्राम स्वराज अभियान के अंतर्गत पंच सरपंच प्रशिक्षण, स्व सहायता समूह के प्रशिक्षण व नरेगा कार्यक्रम के अनुभवों को सभी के समक्ष रखा गया।

डॉ. अशोक पांडे ने समाज सेवा व ग्रामीण विकास पर अपने क्षेत्र में सामुदायिक विकास पर किए गए कार्यों पर चर्चा करते हुए बताया कि समाज को कैसे एक माला में पिरोकर रखा जा सकता है। समाज के लिए हमारी क्या जिम्मेदारी है, ये तमाम बातें हम सबके मन में होती हैं‌। हम सब कुछ करना भी चाहते हैं लेकिन मन की बात को मन से करने से हमें अंदर छुपी शक्ति रोक देती है। हमें उस शक्ति को नियंत्रित करना होगा यह तभी संभव है जब हम अपने पर काबू पा लेंगे।

इस अवसर पर नेहरू युवा केंद्र पन्ना के लेखापाल टी.आर. डडसेना ने तीन दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण की संक्षेप में जानकारी दी, जिसमें उन्होंने बताया कि 3 दिनों तक युवाओं को व्यक्तित्व विकास, उन्नत कृषि, स्वरोजगार, युवा मंडल का गठन एवं गांव में नेतृत्व आदि विषयों पर प्रशिक्षण दिया जाएगा।

Advertisement