बाढ़ से किसान-मजदूर बैठे हैं खाली हाथ, मदद को बढ़े हाथ

16

स्वयंसेवी संस्थाओं ने सैकड़ों बाढ़ पीड़ित परिवार में बांटी राहत सामग्री
वाराणसी/राजातालाब
बाढ़ के कारण किसान और मजदूर खाली हाथ बैठे हैं। मजदूरों को खेत में काम न मिलने के कारण उनके सामने रोजी-रोटी का संकट आ गया है। ऐसे में बाढ़ प्रभावित क्षेत्र शाहंशाहपुर में बाढ़ के चलते प्रभावित इलाकों में राहत सामग्री वितरित की गई।
सामाजिक संस्था लोक समिति,साझा संस्कृति मंच व विश्व ज्योति जनसंचार समिति ने बाढ़ पीड़ित लोगों की मदद के लिये सामने आये। संस्था के कार्यकर्ताओं ने आराजी लाइन ब्लाक के बाढ़ प्रभावित शाहंशाहपुर गाँव में 50 जरूरतमंद परिवारों को राहत सामाग्री वितरित किया। इस दौरान राशन के साथ ही लोगों में बिमारी से बचाव के लिये साबुन, हैण्डवाश, सेनेटरी पैड, मच्छर से बचाव के लिए ओडोमाश तेल वितरित करके साफ सफाई व बीमारी से बचाव के प्रति जागरूक भी किया गया।
लोक समिति संयोजक नन्दलाल मास्टर ने बताया कि संस्था द्वारा बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में ऐसे लोगों को चिन्हित कर लगातार राहत सामग्री वितरण का कार्य किया जा रहा है। अबतक 200 से ज्यादा परिवारों में राशन वितरित किया जा चुका है। राशन किट में एक परिवार को आटा, चावल, दाल, बोतलबन्द पानी, ब्रेड, साबुन हैण्ड वाश, माचिस, कैंडिल, चना,लाई नमक, आदि पैक किए गए थे। इस दौरान मुकेश झंझरवाल, प्रमोद, फादर आनन्द, नन्दलाल मास्टर, सिस्टर एशली, सिस्टर फिलो, अनीता, सोनी, सरोज, मैनब, फादर प्रवीण,फादर एंटो, सुरेन्द्र, अजयपाल, सुजीत, हरिप्रसाद सिंह, बसन्त यादव, कन्हैया लाल, विनीत सिंह, धरणीधर एंव अन्य वालंटियर मौजूद रहे।
धन्यवाद
द्वारा
राजकुमार गुप्ता
वाराणसी

Click