मेरे लिए मेरा देश मेरी जनता पहले ,जिलाधिकारी ने चालू करी ये नेक पहल

34

रायबरेली

जहां पूरा देश आज कोरोना से लड़ने के लिए रात दिन एक कर रहा हैं तो वही रायबरेली के तेज तर्रार जिलाधिकारी शुभ्रा सक्सेना ने जो अपने कार्यो से मिशाल पेश करी हैं वो काबिलेतारीफ हैं जी हाँ रायबरेली में कोरोना का अब तक एक भी मरीज पोस्टिव नही पाया गया लेकिन जिलाधिकारी ने जिले के सभी अधिकारी चाहे वो पुलिस विभाग हो या अन्य कोई भी विभाग हो ,उनके अधिकारियों को ये सख्त निर्देश दिए है कि सभी नियमो का पूरा पालन करे व अन्य लोगो से नियको का पालन करने की अपील करे ।आपको बताते चले 21 दिन के लिए देश का लॉक डाउन को देखते हुए जिले में लॉक डाउन होने से पहले ही जिलाधिकारी ने सभी एमरजेंसी सर्विसेज को एक्टिव कर दिया था जिसका ये नतीजा निकला कि जिले में हर व्येक्ति को घर बैठे दवाइया ,दूध,सब्ज़ी व अन्य जरूरी सामान एक फोन पर उपलब्ध हो रहा हैं तो वही जिलाधिकारी ने जो व्येक्ति के पास कोई काम नही है गरीब हैं या बेसहारा हैं उन लोगो के लिए लंच पैकेट की व्यवस्था का इंतजाम आज से चालू कर दिया है तो वही दूसरी ओर समस्त तहसील के अधिकारियों को ये निर्देशित भी कर दिया है की वे अपने क्षेत्रों के प्रधानों के साथ बैठक कर उन्हें गरीबो की मदद व उनकी सहायता के उचित कदम उठाने के लिए जागरूकता कार्यक्रम करने के निर्देश जारी किए ।जिलाधिकारी का कहना है कि मेरे लिए मेरा देश व मेरी जिले की जनता पहले है परिवार बाद में हैं जिलाधिकारी द्वारा आज से गरीबो के लिए शहर में पहले दिन 200 से ऊपर जरूरतमंद लोगों को लंच पैकेट की व्यवस्था चालू करी हैं वही जो अन्य संस्थान हैं जो गरीब लोगों की मदद करना चाहते है उनकी भी सूची तैयार करवाना चालू कर दिया है, जिसकी पूरे जिले में भूरी भूरी प्रसंसा हो रही हैं वही जिलाधिकारी ने पूरे जिले के अधिकारियों को 24 घण्टे अलर्ट मोड़ पर कर दिया है जिले के सारे अधिकारियों के फोन 24 घण्टे खुले रहेंगे ,किसी भी एमरजेंसी की स्थिति में वे तत्काल मामले की जांच करेंगे जिस तरह से जिलाधिकारी ने कोरोना वायरस से बचने के लिए खुद एक एक पल निगरानी कर रही हैं उससे ये साफ जाहिर होता हैं कि जिलाधिकारी देश और जिले की जनता के लिए कितनी चिंतित है ।

अनुज मौर्य रिपोर्ट

Advertisement