विद्यालयों में छुट्टी को लेकर एसडीएम की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक सम्पन्न

85
IMG-20200317-WA0529

 ● जाम के झाम से निजात पाने के लिए लिए गए ठोस निर्णय 

● दिए गए निर्देशों का पालन न करने पर होगी सख्त कार्यवाई

टी.पी.यादव

रायबरेली। विद्यालयों में होने वाली छुट्टी को लेकर महराजगंज उप जिलाधिकारी विनय कुमार सिंह की अध्यक्षता में महराजगंज तहसील सभागार में समीक्षा बैठक संपन्न हुई। बैठक में प्रमुख रूप से महराजगंज क्षेत्राधिकारी राघवेंद्र चतुर्वेदी, तहसीलदार विनोद कुमार सिंह, महराजगंज नगर पंचायत अधिशासी अधिकारी राजेश कुमार,महराजगंज कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अरुण कुमार सिंह, डॉ.भीमराव अम्बेडकर इण्टर कॉलेज बल्ला के उप प्रधानाचार्य राधेश्याम मौर्य, राजा चंद्रचूड़ इण्टर कॉलेज महराजगंज से भरत राम यादव, न्यू स्टैंडर्ड कॉलेज सलेथू से मोहित श्रीवास्तव,  राजकीय बालिका इण्टर कॉलेज महराजगंज से विजय रानी यादव, स्वदेश सरस्वती विद्या मंदिर इण्टर कॉलेज महाराजगंज से राजेश कुमार मिश्रा सहित लोग मौजूद रहे। महराजगंज तहसील सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक में महराजगंज प्रभारी निरीक्षक अरुण कुमार सिंह ने जाम व शांति व्यवस्था के दृष्टिगत यह सुझाव दिया कि महराजगंज चौराहे से अपेक्षाकृत दूर रहने वाले विद्यालय अपने छुट्टी के समय में आधा घण्टे का अन्तर कर ले, तो महराजगंज मुख्य चौराहे पर होने वाली भीड़ एवं जाम से बचा जा सकता है। क्योंकि सभी विद्यालयों के छूटने का समय लगभग समान है जिसके कारण अक्सर जाम की समस्या बनी रहने के कारण आम जनमानस में कहासुनी झगड़ा इत्यादि की शिकायतें अक्सर प्राप्त होती रहती हैं। इसी की आड़ में अराजक तत्वों से महिलाओं के दुर्व्यवहार की शिकायतें प्राप्त होती रहती हैं। महराजगंज उपजिलाधिकारी विनय कुमार सिंह की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में सभी सदस्यों ने सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया कि जनहित में न्यू स्टैंडर्ड पब्लिक स्कूल सलेथू व एसजेएस महराजगंज का प्रबंध तंत्र यह सुनिश्चित करें कि विद्यालय छूटने का समय एवं बच्चों को विद्यालय कैंपस से निकलने का समय 3 बजे से पहले का कतई न करें। साथ ही महराजगंज प्रभारी निरीक्षक अरुण कुमार सिंह एवं महराजगंज अधिशासी अधिकारी राजेश कुमार पूर्व में 3 मार्च 2020 को दिए के निर्देश के अनुपालन में चिन्हित स्थानों पर तत्काल प्रभाव से वाहन स्टैंड लगवाना सुनिश्चित करें। यदि इसमें कोई व्यवधान उत्पन्न करता है तो मोटर दुर्घटना अधिनियम एवं अन्य सुसंगत धाराओं में कार्यवाही की जाए। समस्त विद्यालयों के प्रबंध तंत्र को सख्त निर्देश दिया गया है कि जो भी वाहन बच्चों को लाने के लिए हैं उनका संचालन विहित मानकों के अनुरूप होना चाहिए। अन्यथा औचक निरीक्षण में मानक के अनुरूप न पाए जाने पर सुसंगत धाराओं में कार्यवाही की जाएगी। जिसके लिए विद्यालय प्रबंधन तंत्र स्वयं जिम्मेदार होगा। साथ ही  निर्देशित किया गया कि वाहनों में फायर सिस्टम का होना, सीटों की संख्या के अनुसार बच्चों को बैठाएं, चालक सदाचारी होना चाहिए। न्यू स्टैंडर्ड सलेथू व एसजेएस प्रबंध तंत्र को निर्देशित किया गया कि समीक्षा बैठक में सदस्यों द्वारा लिए गए निर्णय का 3 दिवस के अंदर अनुपालन करते हुए प्रभारी निरीक्षक महराजगंज को सूचना उपलब्ध कराएंगे।

Advertisement