शिक्षण के स्कूलों में बेहतर माहौल बनाये: डीएम

23

चित्रकूट। जिलाधिकारी शेषमणि पांडे की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में ऑपरेशन कायाकल्प के अंतर्गत बाल मैत्रिक अवस्थापन सुविधाओं के संतृप्त किए जाने हेतु एक दिवसीय जनपद स्तरीय कार्यशाला एवं समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया ।

जिलाधिकारी ने कहा कि शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता में शिक्षा व्यवस्था है शिक्षा व्यवस्था पर प्रत्येक दशा में जनपद में धरातल पर काम होना है । सभी सचिव यह सुनिश्चित कर लें कि विद्यालयों में 7 बिंदु निर्धारित किए गए हैं। उसमें 31 मार्च के पहले सभी कार्य पूर्ण हो जाएं और विद्यालयों में अच्छी प्रकार की पेंटिंग कराई जाए ताकि वह आकर्षण का केंद्र रहे । उन्होंने कहा कि 25 मार्च तक जिला पंचायत राज अधिकारी सभी विद्यालयों की रिपोर्ट जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को देंगे और जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी मुझे उपलब्ध कराएंगे ।कहीं कोई समस्या हो तो अवगत कराएं उसका निस्तारण कराया जाएगा। सभी विद्यालयों में पेयजल अनिवार्य रूप से होना चाहिए। उन्होंने खंड विकास अधिकारी मानिकपुर को निर्देश दिए अमचूर नेऱवा में पेयजल व्यवस्था को ठीक करा दें कहीं पर पेयजल की समस्या नहीं होना चाहिए उन्होंने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से कहा कि अतिरिक्त कक्षा कक्ष के निर्माण की मांग करने और जहां पर जिन विद्यालयों के ऊपर विद्युत तार निकली है उसका समाधान संबंधित विभाग से मिलकर कराएं पुराने विद्यालय जर्जर हो गए हैं उनकी नीलामी की प्रक्रिया भी कराएं । सचिव ने जिलाधिकारी को विद्यालयों के आवागमन के रास्ते की समस्या को बताया जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि जिन विद्यालयों में शासकीय भूमि की उपलब्धता न होने के कारण आने जाने में समस्या हो रही है उसकी सूची जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को दे। ताकि संबंधित उप जिलाधिकारियों से इसका निस्तारण कराया जा सकें। जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी से कहा कि साप्ताहिक समीक्षा बैठक में यह सभी मुख्य बिंदु अवश्य रखे जाएं ताकि निस्तारण हो सके । उन्होंने कहा कि सभी लोग विकास कार्यों में रुचि लेकर कार्य कराए। तत्पश्चात जिलाधिकारी ने बाल मैत्रिक विद्यालय कायाकल्प की पत्रिका का विमोचन भी किया। यूनिसेफ संस्था के प्रतिनिधियों द्वारा प्रोजेक्टर के माध्यम से विद्यालयों के कायाकल्प के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

उप जिलाधिकारी करबी अश्विनी कुमार पांडे , जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रकाश सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी राजबहादुर सहित संबंधित अधिकारी तथा सचिव व यूनिसेफ पिरामल संस्था के लोग मौजूद रहे।

Advertisement