सीतापुर की कालीन फैक्ट्री में गैस रिसाव से सात की मौत

26

सीतापुर। उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले में एक कालीन फैक्ट्री में गुरुवार सुबह 7 लोगों के शव मिले। मृतकों में 5 एक ही परिवार के थे। बताया जा रहा है कि फैक्ट्री में रंगाई के लिए केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है। इसी से बुधवार रात को गैस रिसाव की आशंका है। पास में ही एक केमिकल फैक्ट्री भी है। दोनों फैक्ट्री बिसवां इलाके के जलालपुर गांव में स्थित हैं। घटना के बाद सैकड़ों लोगों की भीड़ मौके पर जुटने लगी। इसके बाद पुलिस ने आसपास के इलाके को खाली कराया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर शोक जताया। उन्होंने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी ने बताया कि कालीन फैक्ट्री के बगल में एक टैंकर से कुछ केमिकल बहाया गया है। फैक्ट्री मालिक की तलाश की जा रही है। लाइसेंस था या नहीं, अवैध या वैध- इसकी जांच होगी। पुलिस अधीक्षक एलआर कुमार ने बताया कि केमिकल के हवा के संपर्क में आने के कारण जहरीली गैस बनी। आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

थाना प्रभारी अजय रावत ने बताया कि कालीन फैक्ट्री के मालिक का नाम इजहारुल है। स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की टीमें जांच के लिए अंदर पहुंच गईं हैं। गैस के असर से फैक्ट्री के आसपास 5 कुत्तों समेत मवेशियों की भी जान गई। इलाके में गंध फैलने से लोग दहशत में हैं।

गार्ड का पूरा परिवार खत्म हुआ

कानपुर निवासी अतीक (50) फैक्ट्री में गार्ड की नौकरी करता था। उसका परिवार यहीं रहता था। अतीक के अलावा पत्नी सायरा (40), बेटी आयशा (12), बेटा अफरोज (8), फैशल (18 माह) की भी जान गई। इसके अलावा दो अन्य मृतकों की पहचान पहलवान और मामा के रूप में हुई।

Advertisement