शक हुआ सच, नामजद आरोपी ही थे गुनाहगार

शक हुआ सच, नामजद आरोपी ही थे गुनाहगार

शक हुआ सच, नामजद आरोपी ही थे गुनाहगार

सिंदूर दिखाकर किया था छात्रा को अगवा, बाद में पेट्रोल डालकर लगाई थी आग

रायबरेली- जनपद में दिल दहला देने वाले घटनाक्रम का खुलासा पुलिस अधीक्षक ने स्थानीय किरण हाल में करते हुए बताया कि समूचे घटनाक्रम का अंजाम सिर्फ घृणा के अपराध के तहत दिया गया। जिन पर परिजनों ने शक किया असल में वही गुनाहगार थे पुलिसिया पूछताछ में लगातार बयान बदल रहे थे गुनाहगार लेकिन पुलिस ने भी कड़ाई से पूछताछ की तब जाकर सारी हकीकत सामने आई। सनद रहे मृतक छात्रा वंशिका गुप्ता से बेरहमी अतुल गुप्ता ने ही साजिश रचकर जलाकर मार डाला था। इतना घृणित अपराध था जो शायद रायबरेली में पहले कभी हुआ पुलिस सवालों के कटघरे में थी तो दूसरी ओर जनपद में जोरदार प्रदर्शन भी होने लगा था गुनाहगारों को पकड़कर फांसी देने की मांग अपने चरम पर थी। ऊपर से भी पुलिस पर जल्द खुलासा करने का दबाव भी था लेकिन पुलिस हर एक पहलू पर विचार करके ही खुलासा करना चाह रही थी।

छात्रा से पीछा छुड़ाना चाहता था आरोपी अतुल गुप्ता

घटना का मास्टरमाइंड अतुल गुप्ता से मृतका शादी करना चाहती थी जबकि अतुल गुप्ता वंशिका गुप्ता से पीछा छुड़ाना चाहता था। क्योंकि अतुल गुप्ता की शादी फरवरी में होने वाली थी इस वजह से वह मृतका से पीछा छुड़ाना चाहता था। इसके लिए उसने गुनाह के उस रास्ते को चुना जो सभ्य समाज में कबूल नहीं है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मास्टरमाइंड मुख्य आरोपी अतुल गुप्ता शिवरतनगंज से ओमनी कार लेकर चला उसने उसके 2 दोस्त सवार थे उसके पास क्लोरोफॉर्म (बेहोशी की दवा) व पेट्रोल भी मौजूद था। मृतका के हर मूवमेंट की जानकारी के लिए मास्टरमाइंड अतुल गुप्ता मृतका की सहेली से फोन पर संपर्क बनाए रखता था। हरचंदपुर स्थित कॉलेज के पास पहुंचने पर उसने ओमनी वैन से ही मृतका को सिंदूर दिखाया जिसका मतलब यह था वह उससे शादी करना चाहता है गुनाहगारों के झांसे में मृतका आ गई वह कार में बैठ गई अतुल गुप्ता और उसके साथी ने क्लोरोफॉर्म से उसको बेहोश कर दिया। जब वह अचेत हो गई तो 2 किलोमीटर दूर एक बाग में ले जाकर उसके हाथ-पैर बांधकर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी। दौरान गुनाहगार बड़ी साजिश के तहत आए थे उनका एक साथी ओमनी वैन से दूर से नजर रख रहा था तथा 2 साथी मिलकर घटना का अंजाम दे रहे थे। वहीं मृतका की सहेली स्कूल के पास से ही वापस लौट गई थी। कुछ इस तरह आरोपियों ने खत्म कर दिया एक छात्रा को तथा रायबरेली की अपराध इतिहास में सबसे भयावाह अपराध का अंजाम दिया गया।

पुलिस ने तीन अभियुक्तों को किया गिरफ्तार एक फरार

पुलिस ने तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है जिसमें मास्टरमाइंड अतुल गुप्ता पुत्र पारसनाथ गुप्ता निवासी खारा थाना शिवरतन गंज जनपद अमेठी। दूसरा ललित गुप्ता पुत्र राम नरेश गुप्ता निवासी अहोरवा भवानी थाना शिवरतन गंज जनपद अमेठी। गुनाहगारों की मददगार अंजली श्रीवास्तव पुत्री मदन लाल श्रीवास्तव निवासी शांति नगर थाना बछरावां जनपद रायबरेली को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वही है एक अभियुक्त पुलिस को चकमा देकर फरार चल रहा है धीरू पुत्र राजाराम गुप्ता निवासी थाना महाराजगंज जनपद रायबरेली धरपकड़ के लिए प्रयास कर रही है पुलिस।

अभियुक्तों के पास से पुलिस ने बरामद किया ओमनी कार

अभियुक्तों के पास से पुलिस ने एक ओमनी कार, क्लोरोफॉर्म की खाली शीशी 3, खुद कबूल कर लिया है एक खाली 5 लीटर केन, जिसमें जलाने हेतु पेट्रोल लाया गया था।

खुलासा करने वाली पुलिस टीम जिसने दिन रात एक कर दी

घटना की सफल अनावरण की जिम्मेदारी इन पुलिस कर्मियों की थी जिन्होंने दिन रात एक कर दी थी। जिसमें अनिल कुमार सिंह थानाध्यक्ष हरचंदपुर जनपद रायबरेली अपने हमराही पुलिस बल के साथ, अमरेश कुमार त्रिपाठी प्रभारी सर्विलांस और स्वाट टीम रायबरेली, राकेश सिंह थानाध्यक्ष शिवगढ़ मय हमराही पुलिस बल, पंकज तिवारी प्रभारी निरीक्षक बछरावां अपने साथी पुलिस बल के साथ, संतोष कुमारी महिला थाना अध्यक्ष अपने पुलिस बल के साथ। समूचे घटनाक्रम से जनपद में काफी रोष था आई जी रेंज भी घटनास्थल पर पहुंचे थे पुलिस पर जल्द घटना को बेपर्दा करने का भारी दबाव था पुलिस ने वही किया सच को सच में साबित किया सबूतों को इकट्ठा कर गुनाहगारों को बेपर्दा कर दिया।

क्या था पूरा घटनाक्रम?

दिनांक 1 फरवरी 2020 को रायबरेली के हरचंदपुर थाना क्षेत्र स्थित ग्राम शोरा के पास यूकेलिप्टस के बाग में एक अज्ञात युवती की अधजली लाश बरामद हुई थी जिसकी पहचान दिनांक 2 फरवरी 2020 को मृतिका के परिजनों द्वारा शव व पहनावा हुलिया जूते,कान की बाली व हेयर पिन के आधार पर वंशिका उर्फ रुचि पुत्री दिलीप कुमारी उम्र 20 वर्ष निवासी सब्जी मंडी वार्ड नंबर 9 दक्षिण बाजार कस्बा व थाना बछरावां रायबरेली के रूप में की गई। जो महावीर डिग्री कॉलेज कठवारा हरचंदपुर की बीएससी तृतीय वर्ष की छात्रा थी मृतिका उपरोक्त 01-02- 2020 को सुबह 9:00 बजे घर से कालेज के लिए निकली थी इस संबंध में मृतका के पिता की लिखित तहरीर के आधार पर थाना स्थानीय पर मुकदमा अपराध संख्या 17/ 2020 धारा 302, 201, 323, 506 पंजीकृत किया गया था।अभियोग में विवेचना से उपलब्ध साक्ष्य के आधार पर धारा 364,120 B भारतीय दंड विधान की बढ़ोतरी की गई।
शक हुआ सच, नामजद आरोपी ही थे गुनाहगार
Advertisement