टोल प्लाजा पर कर्मचारियों द्वारा अवैध वसूली की जाती है- दीपक सिंह, एमएलसी

रायबरेली– उत्तर प्रदेश के जनपद रायबरेली के मध्य स्थित टोल प्लाजा पर कर्मचारियों द्वारा आये दिन राहगीरों से टोल के नाम पर अवैध वसूली की जाती है तथा मनमाना पैसा भुगतान न किये जाने पर टोल के कर्मचारियों द्वारा वाहन स्वामियों अभद्रता व मारपीट की जाती है। शिकायत करने वाले को स्थानीय थानों से मिलकर प्रताड़ित किया जाता है तथा नहीं मानने पर मुकदमा दर्ज किया जाता है। जिसका उदाहरण उक्त टोल के निकट ऐहार के पास सिंह ढाबा मालिक संगम सिंह के साथ घटना घटित हुई, उक्त टोल से अधिक आवागन से टोल की धनराशि को लेकर वहाँ के टोल मैनेजर से बहस हुई। तथा टोल प्लाजा के मैनेजर द्वारा ढाबा मालिक के। खिलाफ लालगंज थाने के कोतवाल (विनोद सिंह) से मिल कर संगम सिंह पर फर्जी मुकदमा दर्ज करा दिया गया। ऐसे अन्य कई गम्भीर ।म मामले प्रकाश में आये हैं कि वहाँ कर्मचारियों एवं मैनेजर द्वारा खुलेआम गुण्डागर्दी की जाती है। ऐसा लगता है कि वहाँ कर्मचारियों से पुलिस की मिलीभगत है। जिसके कारण टोल प्लाजा कर्मचारी वाहन स्वामियों से मनमाना टैक्स वसूलते हैं तथा अभद्रता करते हैं। जिससे प्रदेश के वाहन स्वामियों में टोल प्लाजा और सम्बन्धित पुलिस थानों के प्रति कर्मचारियों को लेकर सरकार के प्रति भारी रोष एवं आक्रोश व्याप्त है। उक्त प्रकरण तत्कालिक सुनिश्चित व लोकमहत्व का है। सदन के माध्यम से शासन का ध्यान आकर्षित करते हुए कार्यवाही किये जाने की माँग करता हूँ उक्त बातें एमएलसी दीपक सिंह ने सदन में कही।

Advertisement