Wrestlers Protest: जांच पूरी होने तक पद से हटेंगे कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण

12
Wrestlers Protest: विवादों में घिरे कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह को आखिर झुकना ही पड़ा। जांच पूरी होने तक वह अपने पद से हट जाएंगे। केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर और पहलवानों की बैठक के बाद ये फैसला लिया गया।
विनेश फोगाट (बाएं) बृजभूषण सिंह (दाएं) - इमेज : सोशल मीडिया

पहलवानों व खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के बीच हुई अहम बैठक के बाद लिया गया फैसला

Wrestlers Protest: विवादों में घिरे कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह को आखिर झुकना ही पड़ा। जांच पूरी होने तक वह अपने पद से हट जाएंगे। केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर और पहलवानों की बैठक के बाद ये फैसला लिया गया।

बता दें कि पहलवानों की मांग है कि बृजभूषण शरण सिंह को हटाया जाए और कुश्ती संघ को खत्म करके नए संघ का निर्माण किया जाए। अपने ऊपर लगे आरोपों पर सफाई देने के लिए बृजभूषण सिंह प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले थे, लेकिन उन्होंने इसे रद कर दिया। वहीं, भारतीय ओलंपिक संघ ने यौन शोषण के आरोपों की जांच के लिए 7 सदस्यीय समित गठित की है।

वहीं खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के साथ बैठक के बाद पहलवान बजरंग पुनिया ने कहाकि केंद्रीय खेल मंत्री ने हमारी मांगों को सुना और उचित जांच का आश्वासन दिया है। मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं और हमें उम्मीद है कि निष्पक्ष जांच होगी, इसलिए हम विरोध वापस ले रहे हैं।  

Wrestlers Protest: भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह निरीक्षण समिति द्वारा मामले की जांच किए जाने तक पद से हट जाएंगे। केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि  बैठक के दौरान खिलाड़ियों ने अपनी मांगें रखीं और हमने इस पर चर्चा की। हमने रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया को नोटिस जारी किया था जब आरोप लगाए गए थे और उन्हें 72 घंटे के भीतर जवाब देने के लिए कहा था। 

इस मुद्दे को लेकर तीरंदाज डोला बनर्जी ने कहा, ”मुझे अभी मीडिया से पता चला है कि मैं इस समिति (आईओए की सात सदस्यीय समिति) का हिस्सा हूं। हम काम शुरू करेंगे और फिर बता पाएंगे कि सही तस्वीर क्या है। हम सुनिश्चित करते हैं कि सच्चाई सबके सामने आएगी।”

आईओए द्वारा गठित सात सदस्यीय समिति के सदस्य और भारतीय भारोत्तोलन महासंघ के अध्यक्ष सहदेव यादव ने कहा, ”हम बैठेंगे और सबकी बात सुनेंगे और आरोपों को देखने के बाद निष्पक्ष जांच करेंगे। हम निष्पक्ष न्याय देने की कोशिश करेंगे।”

भाजपा सांसद और डब्ल्यूएफआई प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों के बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने शुक्रवार को केंद्रीय मंत्रियों अनुराग ठाकुर और स्मृति ईरानी से अपना कर्तव्य पूरा करने और सिंह के इस्तीफे की मांग करने वाले पहलवानों के लिए न्याय सुनिश्चित करने को कहा।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता क्लाइड क्रास्टो ने कहा, “यह स्पष्ट होता जा रहा है कि केंद्र सरकार और खेल मंत्रालय बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहे हैं, क्योंकि वह भाजपा के सांसद हैं। उनके पास डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष के रूप में अपने पद से हटने के लिए कहने की शक्ति है।”

गौर करें तो जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे पहलवानों से मिली लिखित शिकायत के बाद भारतीय ओलंपिक संघ ने आपात बैठक बुलाई। भारतीय ओलंपिक संघ (IOA) ने भारतीय कुश्ती संघ के प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच के लिए सात सदस्यीय समिति का गठन किया है। इस समिति में मैरी कॉम, डोला बनर्जी, अलकनंदा अशोक, योगेश्वर दत्त, सहदेव यादव और दो अधिवक्ता हैं।

 

Advertisement