अनंत चतुर्दशी की बहुत-बहुत बधाई

50

अनंत चतुर्दशी को 14 गांठो वाला बांधे रक्षा सूत्र :–धर्माचार्य ओम प्रकाश पांडे अनिरुद्ध रामानुज दास
अनंत चतुर्दशी की बहुत-बहुत बधाई एवं अनंत मंगलकामनाएं। 9 सितंबर दिन शुक्रवार भाद्रपद मास शुक्ल पक्ष की अनंत चतुर्दशी है।
सनातन धर्म में अनंत चतुर्दशी का विशेष महत्व है। सहस्त्र रुप वाले सहस्त्र चरण- नेत्र- शिर- वाहु वाले सहस्त्रनाम वाले शाश्वत पुरुष सहस्त्र कोटि युगो को धारण करने वाले भगवान श्री अनंत को नमस्कार है।
दास का बारंबार साष्टांग स्वीकार हो।
आज का दिवस भगवान श्री विष्णु की अनंत रूप में उपासना करने का दिवस है। इस दिन भगवान श्रीमन्नारायण की उपासना के बाद अनंत सूत्र बांधा जाता है। यह सूत्र रेशमी अथवा सूत का होता है।
इस सूत्र में 14 गांठे लगाई जाती है ।भगवान श्रीमन्नारायण ने 14 लोक बनाए हैं। जिनमें सत्य, तप, जन, मह, स्वर्ग, भुव:, भू, अतल, वितल, सुतल, तलातल, महातल, रसातल और पाताल शामिल है। इन लोको का पालन करने और रक्षा करने के लिए वह स्वयं भी 14 रूपों में प्रकट हुए थे। जिससे वह अनंत प्रतीत होने लगे।
इसीलिए अनंत चतुर्दशी का व्रत भगवान विष्णु को प्रसन्न करने और अनंत फल देने वाला माना गया है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन व्रत करने के साथ-साथ यदि कोई व्यक्ति श्री विष्णु सहस्त्रनाम स्त्रोत का पाठ करता है तो उसकी समस्त मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं।
रक्षा सूत्र के बांधने से भगवान श्री हरि इन समस्त लोकों में जीवो की रक्षा करते हैं ।
भगवान से प्रार्थना करनी चाहिए हे वासुदेव इस अनंत संसार रूपी महासमुद्र में डूबे हुए लोगों की रक्षा कीजिए तथा उन्हें अनंत के रूप का ध्यान करने में संलग्न कीजिए ।अनंत रूप वाले प्रभु आपको बारंबार नमस्कार है।श्री अनंत भगवान से प्रार्थना है आप सभी का कल्याण करें। हरि अनंत हरि कथा अनंता।
ओम प्रकाश पांडे अनिरुद्ध रामानुज दास रामानुज आश्रम संत रामानुज मार्ग शिव जी पुरम प्रतापगढ़।
कृपा पात्र श्री श्री 1008 स्वामी श्री इंदिरारमणाचार्य पीठाधीश्वर श्री जीयर स्वामी मठ जगन्नाथ पुरी एवं पीठाधीश्वर रामानुज कोट श्रीनैमिष नाथ भगवान नैमिषारण्य उत्तर प्रदेश। रिपोर्ट- अवनीश कुमार मिश्रा

Click