अवध विश्वविद्यालय ने दीपोत्सव की तैयारियों को लेकर स्वयंसेवकों को दिया प्रशिक्षण

1

अयोध्या। डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा दीपोत्सव में विश्व कीर्तिमान के लिए इण्टर कालेजों के शिक्षकों एवं छात्र-छात्राओं को प्रशिक्षण देना शुरू किया।

विवि की कुलपति प्रो0 प्रतिभा गोयल के दिशा-निर्देशन में दीपोत्सव नोडल अधिकारी एवं शिक्षकों ने महाराजा इण्टर कालेज, महाराजा पब्लिक स्कूल, शिवदयाल इण्टर कालेज व अवध जनता इण्टर कालेज के स्वयंसेवकों को पीपीटी एवं वीडियों के माध्यम से प्रशिक्षित किया।

विवि प्रशासन एवं उत्तर प्रदेश शासन तथा जिला प्रशासन के समन्वय में दीपोत्सव को ऐतिहासिक बनाने के लिए अयोध्या में प्रभु श्रीराम के 14 वर्ष बाद दीपोत्सव के दिन आगमन पर 21 लाख से अधिक दीपों को प्रज्ज्वलित कर स्वागत करने की तैयारी है। इसे लेकर स्वयंसेवकों में उत्साह देखते ही बन रहा है।

25 हजार स्वयंसेवकों की मदद से राम की पैड़ी एवं चौधरी चरण सिंह के 51 घाट पर 24 लाख दीए बिछाकर एवं प्रज्ज्वलित कर पुनः गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड में नाम कराने की तैयारी है। इससे उनमें अध्यात्मिक चेतना के विकास के साथ ऊर्जा का संचार होगा।

विवि दीपोत्सव नोडल अधिकारी प्रो0 एसएस मिश्र ने बताया कि कुलपति के कुशल मार्गदर्शन में 11 नवम्बर को होने वाले दीपोत्सव की तैयारियां तेजी के साथ की जा रही है। 51 घाटों की मार्किंग का कार्य विश्वविद्यालय के सहायक कुलसचिव मोहम्मद सहील के देखरेख में जारी हैं।

पहली बार सातवीं दीपोत्सव में जनपद के 19 इण्टर कालेज के शिक्षक एवं छात्र-छात्राएं शामिल हो रहे। स्वयंसेवकों को पीपीटी एवं वीडियों के माध्यम से घाटों की मार्किंग, दीपों को बिछाना, बाती लगाना, दीपों में बोतल से तेल डालना, खाली तेल के बोतल को गत्ते में डालना, दीपो को तय समय पर जलाना व अनुशासन में रहते हुए दीपोत्सव स्थल छोड़ने का प्रशिक्षण दिया गया।

  • मनोज कुमार तिवारी
Click