चचेरे भाई ने किया बहन का क़त्ल

37

राठ, हमीरपुर। कस्बे के छोटी जुल्हैटी मोहल्ले में दिनदहाड़े अपने साथियों के साथ मिलकर चचेरे भाई ने बहन की गोली मारकर हत्या कर दी है। घटना की जानकारी होते ही स्वजनों में कोहराम मच गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

छोटी जुल्हैटी मोहल्ला निवासी अतर ने बताया कि उसकी बहन 28 वर्षीय शहनाज खातून उर्फ हीर मंगलवार दोपहर घर पर अकेली थी। भाभी सीमा छत पर थी। मंगलवार की शाम करीब चार बजे मोहल्ले में चादर पोशी निकल रही थी। तभी उसका चचेरा भाई रोशन पुत्र नसीम खान, तौजीब पुत्र हलीम अपने अन्य साथियों के साथ घर में घुस आया और हीर पर गोली चला दी। जान बचाने के लिए हीर ने प्रयास किया। लेकिन आरोपी युवक ने गोली मारकर धमकी देते हुए भाग गया।

शोर शराबा सुनकर स्वजन और पड़ोसी मौके पर पहुंचे और खून से लथपथ हीर को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए। जहां डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया। घटना के पीछे वजह को प्रेम प्रसंग बताया जा रहा है। चचेरे भाई ने बहिन के पति तौजीब के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया है। मृतका अपने पीछे एक पुत्री 5 वर्षीय इलमा को रोते बिलखते छोड़ गई है।

घटना के बाद कोतवाली प्रभारी राजेश कमल पुलिस फोर्स के साथ सीएचसी पहुंच जांच पड़ताल की। कोतवाल ने बताया कि आरोपी की तलाश की जा रही है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

पति की मौत के बाद मायके में रह रही थी हीर

कस्बे के छोटी जुलहेटी मोहल्ला निवासी 28 वर्षीय शहनाज़ उर्फ हीर की शादी 7 साल पहले भोगनीपुर निवासी नूर आलम के साथ हुई थी। लेकिन उसके पति की बीमारी के चलते शादी के एक साल बाद ही मौत हो गई थी। तभी से ही अपने मायके में पिता महमूद खां के पास रह रही थी।

पिता महमूद खां ने बताया कि उसके भाई नसीम खां से उसका दो साल से घर में आना जाना नहीं है। बताया कि मंगलवार को उसके भाई का पुत्र रोशन, तौजीब अपने दो साथियों के साथ आया और घर में घुस कर कमरे में बैठी पुत्री को तमंचा निकाल कर सीने में दो गोली दाग दी। खून से लथपथ पुत्री को सीएचसी ले गए। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

रिपोर्ट- एमडी प्रजापति

Click