चोरी गई बाइक को पुलिस ने किया नीलाम, अब भटक रहा गाड़ी मालिक

202

रायबरेली। जिले के पुलिस कर्मियों की बहुत बड़ी लापरवाही के चलते चोरी की बाइक बरामद करने के बाद उसकी नीलामी करने का कारनामा किया गया है। वाहन स्वामी अपनी बाइक वापस करवाने के लिए पुलिस अधिकारियों समेत न्यायालय के चक्कर काट रहा है। फिलहाल अपनी गलती पर पर्दा डालने के लिए पुलिस अधिकारी वाहन स्वामी को नीलामी की रकम देने के लिए दबाव डालना शुरू कर दिया है।

शहर कोतवाली में दर्ज रिपोर्ट के अनुसार प्रार्थिनी पिंकी मौर्या पुत्री छोटेलाल मौर्या निवासी ग्राम रामसांडा थाना ऊंचाहार ने 17 जुलाई 2020 को एक लिखित तहरीर शहर कोतवाली में दी। तहरीर के मुताबिक प्रार्थिनी ने कहा कि उसका भाई शिवकमल उसकी मोटर सायकिल लिए हुए था, जो कि 16 जुलाई 2020 को शहर कोतवाली के इन्दिरा नगर से चोरी हो गई।

प्रार्थिनी ने अपने एक दूर की रिस्तेदार महिला पर चोरी करवाने की शंका को भी तहरीर में लिखवाया। प्रार्थिनी और उसके परिजन शहर कोतवाली पुलिस के करीब एक महीने लगातार चक्कर काटते रहे । बड़ी मुश्किल से शहर कोतवाली पुलिस ने एक महीने बाद 8 अगस्त 2020 को प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करके शांत बैठ गई।

घटना के करीब दो साल बाद भदोखर थाना में लावारिस गाड़ियों की नीलामी हुई ,जिम्मेदार अधिकारी ने कोर्ट को बताया कि नीलामी में वह मोटर साईकिल भी शामिल है जो पूर्व में चोरी हुई थी।। नीलामी होने के बाद जब मोटर सायकिल के कागजात के लिए मामला एआरटीओ कार्यालय पहुचा तो कार्यालय के कर्मचारियों ने बाइक स्वामी से सम्पर्क साधा तब जाकर उन्हें पता चला कि उनकी बाइक को पुलिस ने नीलाम कर दिया।

अपनी बाइक वापस पाने के लिए प्रार्थनी अपने परिजनों के साथ पुलिस अधिकारियों के बीते कई महीने से चक्कर काट रही हैं। एक क्षेत्रधिकारी के मातहत कर्मियों ने कहा कि आप की बाइक नीलाम कर दी गई है।

वही पुलिस अधीक्षक अपने लापरवाह पुलिसकर्मियों के इस बैडवर्क पर कोई कार्यवाही करते हैं या नहीं यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा ,वही वाहन स्वामी की नीलाम हुई बाइक उसे वापस मिल पाती है या नहीं

इस मामले पर जब पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी से जानकारी की गई तो उन्होंने कहा कि जो भी संबंधित मामले में जांच के आदेश दे दिए गए हैं जो भी उचित होगा वही कार्यवाही की जाएगी ।

रिपोर्ट – अनुज मौर्य

Advertisement