पेरियार रामास्वामी की जयंती पर जागरूकता कार्यक्रम

7

लालगंज, रायबरेली। क्षेत्र के भीरा गोविंदपुर गांव में अमर शहीद वीरा पासी सामाजिक सेवा संस्थान के बैनर तले संस्था अध्यक्ष धीरज कुमार पासी की अध्यक्षता में पेरियार रामास्वामी की जयंती एवं जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

उक्त कार्यक्रम में सभी लोगों ने संविधान निर्माता डॉ बाबा साहेबआंबेडकर एवं पेरियार रामास्वामी के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किए तदोपरांत धीरज पासी ने पेरियार रामास्वामी नायकर के बारे मे बताया आज़ादी से पहले और इसके बाद के तमिलनाडु में पेरियार का गहरा असर रहा है। और राज्य के लोग उनका कहीं अधिक सम्मान करते हैं।

पेरियार के नाम से विख्यात, ई. वी. रामास्वामी का तमिलनाडु के सामाजिक और राजनीतिक परिदृश्यों पर असर इतना गहरा है कि कम्युनिस्ट से लेकर दलित आंदोलन विचारधारा, तमिल राष्ट्रभक्त से तर्कवादियों और नारीवाद की ओर झुकाव वाले सभी उनका सम्मान करते। उन्हें मार्गदर्शक के रूप में देखते हैं।

तर्कवादी, नास्तिक और वंचितों के समर्थक होने के कारण उनकी सामाजिक और राजनीतिक ज़िंदगी ने कई उतार चढ़ाव देखे। 1919 में उन्होंने अपने राजनीतिक सफ़र की शुरुआत कट्टर गांधीवादी और कांग्रेसी के रूप में गांधी की नीतियों जैसे शराब विरोधी, खादी और छुआछूत मिटाने की ओर आकर्षित हुए पूर्व लेखपाल चौधी पासवान ने कहा कि आप एक टाइम खाना ना खाएं आप अपने बच्चों को स्कूल जरूर भेजें क्योंकि शिक्षा ही अंधविश्वास और पाखंड वाद को समाप्त कर सकती है।

श्री चौधी ने कहा की पेरियार रामास्वामी पाखंडवाद और अंधविश्वास के खिलाफ थे उन्होंने अपना पूरा जीवन समाज में व्याप्त अंधविश्वास और पाखंड वाद को मिटाने में लगा दिया एडवोकेट रामस्वरूप वर्मा ने कहा कि आप सभी लोग ऊंच-नीच की हीन भावना को छोड़कर आपस में प्रेम भाव से मिलकर रहें एवं संविधान के अनुसार समाज को आगे बढ़ाने का कार्य करें जैसे संस्थान कई वर्षों से लगातार कर रहा है।

कार्यक्रम के इस अवसर पर बैजनाथ मौर्य, रामबली गौतम, हरिशंकर यादव,दयाराम,एडवोकेट रामस्वरूप वर्मा, संस्था के कोषाध्यक्ष-देवता दीन पासी, उपाध्यक्ष छेदीलाल पासी संस्था के महामंत्री राजाराम पासी, मीडिया प्रभारी सुरेश पासी एवं क्षेत्र के सैकड़ों लोग उक्त कार्यक्रम में शामिल रहे।

रिपोर्ट- संदीप कुमार फिजा

Click