शोपीस बना सामुदायिक शौचालय, न पानी की व्यवस्था न बिजली का कनेक्शन

23

मान्धाता, प्रतापगढ़ : शोपीस बना सामुदायिक शौचालय,न पानी की व्यवस्था न बिजली का कनेक्शन, लोग लोटा लेकर फिर निकले खेतों की ओर> विकासखंड मांधाता के अंतर्गत पूरे तोरई (पूरे वैष्णो) में सामुदायिक शौचालय का निर्माण अधूरा: लगभग भुगतान हो चुका है पूरा.

प्रधान व ब्लॉक के अधिकारियों की उदासीनता के कारण उक्त योजना नहीं चढ़ पा रही परवान सरकार की महत्वकांक्षी योजना चढ़ी भ्रष्टाचार की भेंट

विकास खंड मांधाता के ग्राम सभा पूरे तोरई (पूरे वैष्णो) में स्वच्छ भारत मिशन की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं ग्राम पंचायत में सामुदायिक शौचालय का निर्माण तो हुआ, लेकिन टैंक को अधूरा ही छोड़ दिया गया इतना ही नहीं सामुदायिक शौचालय में न बिजली का कनेक्शन है न पानी की व्यवस्था है पानी ना होने से ग्रामीण शौचालय का उपयोग न कर पाने से खुले में शौच करने को लाचार हैं.  लाखों रुपए से बना या शौचालय भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया है पूर्व प्रधान व वर्तमान प्रधान व ब्लॉक के अधिकारियों द्वारा पैसों का भुगतान तो लगभग पूरा हो चुका है, लेकिन पैसों के बंदरबांट के चक्कर में शौचालय का निर्माण आज तक पूरा नहीं हुआ लगभग सामुदायिक शौचालय 2 वर्षों से अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है|

वहीं एक ओर जहां स्वच्छता को लेकर पीएम व सीएम गंभीर हैं लेकिन वही जिम्मेदारों के उदासीनता रवैया के चलते सामुदायिक शौचालय में अव्यवस्थाओं का बोलबाला है जिससे यह महज शोपीस बन हुआ हैं अब सवाल उठता है कि कागजों में सभी शौचालय सुचारू रूप से चल रहे हैं ऐसे में लाखों की लागत से बना सामुदायिक शौचालय महज दिखावा मात्र है शत प्रतिशत शौचालयों और इनके इस्तेमाल की रिपोर्ट शासन पहुंची है लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां कर रही है।

रिपोर्ट- अवनीश कुमार मिश्रा

Click