पिछले वित्तीय वर्ष में मान्धाता ब्लाक में मनरेगा मजदूरों द्वारा काम के बदले भुगतान में 2 गांव टॉप पर

114

मांधाता, प्रतापगढ़। मामला प्रतापगढ़ जनपद के विकासखंड मांधाता के अंतर्गत चमरूपुर पठान व मिश्रपुर तरौल गांव का वैसे तो इन दिनों मांधाता ब्लॉक जनपद प्रतापगढ़ में सामुदायिक शौचालय स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत व्यक्तिगत सौचालय सबसे बड़ी बात तो यह है कि महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना मांधाता ब्लाक में परवान चढ चुकी है
पत्रकारों की टीम गांव में धरातल पर जाकर केंद्र एवं प्रदेश सरकार के द्वारा बिकास की हकीकत खंगाल रही है और हकीकत कैमरे में कैद करते हुए सच लिख रही है

क्षेत्र समाज में निवास करने वाली जनता जनार्दन को गांव में बसे लोगों को मुहैया कराई जा रही है अंतिम पायदान तक अन्य योजनाएं चलाकर पहुंचाने का काम कर रही है।

जिम्मेदारों ने सरकारी योजनाओं में धरातल पर उतारने में जमकर बंदर बांट किया गया जिसकी खबरों को जिला प्रशासन ने तत्काल संज्ञान लेते हुए धरातल पर जी ओ टैगिग का फरमान सुना दिया वही सामुदायिक सौचालय मनरेगा योजना में इतना बड़ा खेल हुआ है जिम्मेदारो को बचाने के लिए गजब का दिमाग लगाया है

स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत ग्रामीण मजलूम जनता जनार्दन को अब धीरे से नोटिस पकड़ा दी है जनता जनार्दन में नोटिस पकड़ते ही खलबली मच गई है

खैर उनके ऊपर कारवाही करने की नोटिस लेटर ग्राम पंचायत अधिकारी के हस्ताक्षर से थमाया जा रहा है दूसरी तरफ पूरे तोरई गांव की महिला ने वीडियो बयान में बताया है कि 12000 रूपये के शौचालय में ₹2000 आज तक नहीं मिला हुआ है गरीब आदमी की सुनने वाला कोई नहीं है सबसे बड़ा सवाल बड़े भ्रष्टाचार की जांच कौन करे।

भ्रष्टाचार छुपाने के लिए जिम्मेदारो का नया पैंतरा अब जनता जनार्दन को 15 दिन का मिला समय बनवाए सौचालय यदि नहीं बनवाया तो उसके ऊपर होगी बडी कार्यवाही होगी यफ आई आर सभी संबंधित थानों को भेजी गई नोटिस सूचना की प्रतियां यही है जिले का सरकारी सिस्टम
अवनीश कुमार मिश्रा प्रतापगढ

Advertisement