महिला प्रधान के फौजी पति ने दिनदहाड़े युवक की हत्या की

16

महोबा। कुलपहाड़ कोतवाली ग्राम रावतपुरा खुर्द में रंजिश के चलते गांव की महिला प्रधान के पति ने एक नवयुवक की दिनदहाड़े गोली मारकर निर्मम हत्या कर दी।

हमलावर दोनों भाई व पिता मौके से भाग निकले। नवयुवक की हत्या से परिजनों में कोहराम मच गया है । गांव में हत्याकांड की सनसनीखेज वारदात से इलाके में हड़कंप मच गया है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

कुलपहाड़ कोतवाली के ग्राम रावतपुरा खुर्द में रहने वाले कट्टू यादव, कोमल यादव, राकेश यादव का गांव के ही नवयुवक रवीन्द्र यादव से पुरानी रंजिश के चलते विवाद चल रहा था।

शुक्रवार को प्रात: लगभग 11 बजे रवीन्द्र यादव पुत्र निर्भय सिंह यादव उम्र 27 वर्ष स्नान करके अपने घर वापस जा रहा था। रास्ते में पंचायत भवन व जूनियर हाईस्कूल के निकट रवीन्द्र पर राकेश सिंह यादव पुत्र कोमल सिंह यादव ने ट्रेक्टर से कुचलने का प्रयास किया।

बाल बाल बचे रवीन्द्र ने जब मौके से भागने का प्रयास किया तो फौजी राकेश, कट्टू यादव ने उसको गोली मार दी। सीने में गोली लगते ही रवीन्द्र के प्राण पखेरू उड़ गए। गोली लगते ही तीनं हत्यारोपी मौके से भाग निकले।

हत्यारोपी राकेश सिंह यादव सीआरपीएफ का जवान है एवं जम्मू कश्मीर में तैनात है। वह दो दिन पहले ही अवकाश पर घर आया हुआ था। राकेश की पत्नी उमा गांव की प्रधान है। रवीन्द्र के भाई द्वारा कोतवाली में दी गई तहरीर में राकेश यादव , उसके भाई धर्मेन्द्र सिंह यादव व पिता कोमल यादव के खिलाफ नामदज तहरीर दी है।

रवीन्द्र के भाई के अनुसार रवीन्द्र की शादी के दौरान भी राकेश ने उसकी पत्नी को फोन करने के मामले में विवाद हुआ था। यही वजह है कि यह विवाद लगातार गहराता जा रहा था। आज सुबह सभी लोगों ने आपस में मिलकर एक दूसरे से माफी भी मांग ली थी।

गांव में मूर्ति स्थापना को लेकर भी दोनों पक्षों में हाल ही में विवाद हुआ था। जिसकी सूचना कोतवाली में दी गई थी। हत्याकांड से परिजनों में दहशत का माहौल है। तो वही सीआरपीएफ का जवान राकेश और उसके परिजन मौके से फरार हो गए है।

पुलिस अधीक्षक सुधा सिंह ने घटना की जानकारी मिलते ही मौके का जायजा लिया। उन्होंने कुलपहाड़ सीओ व इंस्पेक्टर को आरोपियों को पकडने के निर्देश दिए। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है।

रिपोर्ट- राकेश कुमार अग्रवाल

Advertisement