मुख्यमंत्री योगी ने प्रयागराज में 3,357 करोड़ की 424 विकास परियोजनाओं का बटन दबाकर किया लोकार्पण-शिलान्यास

45
  • मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत समूह की महिलाओं को डेमो चेक एवं प्रधानमंत्री/मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अन्तर्गत लाभार्थिंयों को चाभी का किया वितरण
  • मुख्यमंत्री ने आंगनबाड़ी कार्यकत्री सरोज भारतीय की छः माह की बेटी कृति का कराया अन्नप्राशन
  • केन्द्र व प्रदेश की सरकार सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास के सिद्धांत पर बिना किसी भेदभाव के पात्र लाभार्थिंयों को योजनाओं से करा रही है लाभान्वित
  • सरकार समाज के आखिरी पायदान पर खड़े लोगो के विकास व उन्नति के लिए कृतसंकल्पित

    मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश योगी आदित्यनाथ सोमवार को मेवालाल अयोध्या प्रसाद स्मारक इण्टर कालेज, सोरांव प्रयागराज में 3,357 करोड़ लागत की 424 विकास परियोजनाओं का बटन दबाकर लोकार्पण/शिलान्यास किया तथा राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत समूह की महिलाओं को डेमो चेक, प्रधानमंत्री/मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अन्तर्गत लाभार्थिंयों को चाभी का वितरण किया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने आंगनबाड़ी कार्यकत्री सरोज भारतीय की छः माह की बेटी कृति का अन्नप्राशन भी कराया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यक्रम में उपस्थित जनसमुदाय को सम्बोधित करते हुए कहा कि जिस प्रकार प्रयागराज में मां गंगा, मां यमुना व मां सरस्वती संगम करके इस देवनगरी को पवित्र बनाती है, उसी प्रकार हमारी भारत की सनातन हिंदू संस्कृति है, जिसमें अनेक जातियां एकजुट होकर परम्परा व संस्कृति को मजबूत बनाने का काम करती है। समय पर हमारे ऋषि-मुनियों, महापुरूषों ने इसे सिंचित कर पल्वित व पुष्पित करने का कार्य किया।

हमारा सौभाग्य है कि आज हमें प्रयागराज की इस धरती पर यह महासम्मेलन करने का सौभाग्य प्राप्त हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह धरती महाऋषि वाल्मिकी की पावन धरती है। इस पावन धरा पर भगवान श्रीराम के पावन चरित्र को अपने आदिकाव्य रामायण के माध्यम से हम सबको विरासत के रूप में जोड़ करके महर्षि वाल्मिकी ने सदैव-सदैव के लिए हमारा संवाद प्रभु श्रीराम के साथ जोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि केन्द्र व प्रदेश की डबल इंजन सरकार ने वाराणसी में संतशिरोमणि रविदास जी के पावन जन्मस्थली के पुनरूद्धार का कार्य कर उनको नमन करने का कार्य कर रही है।

पूर्व की सरकारों ने ऐसे महापुरूषों के योगदानों को भुलाने का कार्य किया है। हमारी सरकार आज की युवा पीढ़ी को ऐसे संत/मतात्माओं के योगदानों से रूबरू कराने का कार्य कर रही है। यह हमारा सौभाग्य है कि स्वतंत्र भारत को एक संविधान देने की जब बात आयीं थी, तो यह संविधान हमें बाबा साहब भीमराव अम्बेड़कर जी ने प्रदान किया था।

आज 142 करोड़ लोग बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर के संविधान से प्रेरणा और प्रकाश प्राप्त करते हुए विकास और समृद्धि की एक नई ऊंचाइयों को प्राप्त कर रहे है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर जी को आज किसी ने सम्मान देने का कार्य किया है, तो वह हैं देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में सरकार ने डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर जी के निवास स्थान से लेकर उनकी कर्मस्थली तक को सम्मान के साथ जोड़ा है और उनकी स्मृति को जीवंत बनाने के लिए उनका स्मारक बनवाने का कार्य किया है, जिससे कि आज की युवा पीढ़ी उनके योगदानों को समझ सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि डबल इंजन की सरकार जो बोलती है, वह करके दिखाती है। आप लोग देखते होंगे कि हमारी सरकार द्वारा संचालित की गयी कितनी सारी जनकल्याणकारी योजनाओं से अनुसूचित जाति/जनजाति के लोग लाभान्वित हुए है। प्रधानमंत्री ने अभी हाल में ही भगवान बिरसा मुण्डा की जयंती तिथि 15 नवम्बर को ‘‘जनजाति दिवस’’ के रूप में मनाने की घोषणा की है।

26 नवम्बर की तिथि ‘‘संविधान दिवस’’ के रूप में मनायी जाये, यह भी प्रधानमंत्री के नेतृत्व में ही सम्भव हुआ है। उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी जबसे देश के प्रधानमंत्री बने है, तब से ‘‘सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास’’ के सिद्धांत पर सभी जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ बिना किसी भेदभाव के दिया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि डबल इंजन की सरकार में हर गरीब को चाहे वह किसी भी जाति का हो, अगर वह पात्रता की श्रेणी में आता है, तो उनको आवास, राशन, आयुष्मान कार्ड, उज्ज्वला योजना, सौभाग्य योजना सहित अन्य योजनाओं के लाभ से लाभान्वित कराने के साथ ही उनको रोजगार उपलब्ध कराने का काम हमारी सरकार कर रही है।

पूरे प्रदेश में अनुसूचित जाति/जनजाति को जमीन के पट्टे देने का कार्यक्रम दु्रतगति से चल रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2025 में प्रयागराज की धरती पर महाकुम्भ का आयोजन होने जा रहा है, जिसे हम भव्य, दिव्य व स्वच्छ महाकुम्भ बनायेंगे तथा देश-विदेश से आने वाले लोग स्नान दर्शन करने के साथ ही प्रयागराज की भव्यता को भी देखेंगे।

यहां पर महाकुम्भ-2025 के सफल आयोजन हेतु कई निर्माणाधीन परियोजनाओं का कार्य तीव्रगति से कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मैं सभी को आश्वस्त करता हूं कि जो भी विकास की योजनाएं है, ये बिना किसी भेदभाव के आप तक पहुंचेंगी। जो लोग योजनाओं का लाभ प्राप्त कर चुके है, उनके आर्थिक स्वावलम्बन के लिए कार्य किया जायेगा एवं जो लोग अभी लाइन में लगे है, उन्हें योजना का लाभ मिलता रहे तथा जिन पात्र लोगो का नाम अभी तक पात्रता सूची में नहीं आया है, उनका नाम शीघ्रता के साथ सूची में डलवाकर उन्हें भी जल्द से जल्द जनकल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित कराया जायेगा।

आज श्रमिकों के बच्चों के लिए अटल आवासीय विद्यालय बनाकर उन्हें शिक्षित करने का कार्य किया जा रहा है। बिना भेदभाव के सभी वर्गों के अभ्यर्थीं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी निःशुल्क कर नौकरी प्राप्त कर सके, इसके लिए अभ्युदय योजना की शुरूआत की गयी। उन्होंने कहा कि सरकार समाज के आखिरी पायदान पर खड़े लोगो के बच्चों की शिक्षा के लिए प्रतिबद्ध है और इसके लिए सरकार द्वारा उन्हें शिक्षित करने के साथ रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जा रही है।

हमारी सरकार के पूर्व अनुसूचित जाति/जनजाति के लोगो को शासन की योजनाओं से वंचित किया जाता रहा है, लेकिन हमने उन्हें बिना किसी भेदभाव के शासन की सभी योजनाओं से लाभान्वित कराकर देश की मुख्यधारा से जोड़ने का कार्य कर रहे है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी हाल ही में प्रधानमंत्री के जन्मदिवस के अवसर पर ‘‘विश्वकर्मा श्रमयोजना’’ का शुभारम्भ हुआ है, जिसमें परम्परागत कार्य करने वाले हस्तशिल्पियों को लाभान्वित कर उन्हें आगे बढ़ाने का कार्य किया जा रहा है।

इस अवसर पर केन्द्रीय राज्यमंत्री सोम प्रकाश ने अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की प्रशंसा करते हुए कहा कि आज भारत के विकास में उत्तर प्रदेश अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। उन्होंने कहा कि डाॅ0 अम्बेडकर ने गरीबो, असहायों व अनुसूचित जाति के लोगो के उत्थान के लिए जो कार्य किया था, आज वहीं कार्य देश में प्रधानमंत्री व उत्तर प्रदेश में श्री योगी आदित्नाथ के नेतृत्व में हो रहा है।

आज लोगो में जाति के नाम पर हीनभावना नहीं होनी चाहिए। देश व प्रदेश की सरकार आप के विकास के लिए निरंतर कार्य कर रही है और आगे भी कार्य करती रहेगी। भारत सरकार बिना किसी भेदभाव के सभी योजनाओं का लाभ शत-प्रतिशत पात्रों तक पहुंचाने का कार्य कर रही है। पूर्व की सरकारों में आप के अधिकार का लाभ किसी अन्य व्यक्ति तक पहुंचता था, परंतु प्रधानमंत्री ने बिचैलियों का खेल खत्म करते हुए सभी योजनाओं का लाभ सीधे आप तक पहुंचाया है।

इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नंदी ने कहा कि आज पूरा विश्व उत्तर प्रदेश की ओर देख रहा है एवं हर तरफ उत्तर प्रदेश की चर्चा है। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश की सांस्कृतिक, आध्यात्मिक, ऐतिहासिक धरोहरों को नई पहचान व नया कलेवर तो मिल ही रहा है साथ ही उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था और औद्योगिक प्रगति आसमान छू रही है। उत्तर प्रदेश भारत के विकास में अहम योगदान दे रहा है। मुख्यमंत्री के अथक परिश्रम व दूरदर्शी सोच से यह सम्भव हो रहा है। उत्तर प्रदेश इंटरनेशनल इवेंट हब के रूप में स्थापित हुआ है।

इस अवसर पर मंत्री असीम अरूण ने अपने सम्बोधन में कहा कि प्रदेश सरकार व मुख्यमंत्री हमेशा गरीबों के कल्याण के लिए सोचते है। मुख्यमंत्री अनुसूचित जनजाति के लोगो के कल्याण हेतु मुख्यमंत्री के पद पर रहने के पूर्व से ही कार्य करते रहे है। उन्होंने कहा कि मैं यदि कुछ विगत वर्षो की बात करूं, तो प्रधानमंत्री ने गरीबों के कल्याण एवं विकास के लिए देश का खजाना खोल दिया है।

उन्होंने कहा कि उद्योगो को बढ़ाने, कौशल विकास, शिक्षा, छात्रवृत्ति के लिए चलायी जा रही योजनाओं के साथ ही हर क्षेत्र में हमें लाभ मिला है। देश व प्रदेश की सरकारों में अनुसूचित जाति के लोगो की पर्याप्त हिस्सेदारी देकर अनुसूचित जाति के लोगो को आगे बढ़ाने का कार्य हमारी सरकार ने किया है। प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नेतृत्व में सर्वसमाज के लोगो का विकास हो रहा है। प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री ने सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास के मूलमंत्र पर कार्य किया है।

इस अवसर पर राज्यमंत्री समाज कल्याण विभाग संजीव कुमार गोंड, सांसद इलाहाबाद श्रीमती रीता बहुगुणा जोशी, सांसद फूलपुर श्रीमती केशरी देवी पटेल, सांसद कौशाम्बी विनोद सोनकर, सांसद भदोही रमेश चन्द्र बिंद, महापौर उमेश चन्द्र गणेश केसरवानी, रामेश सिंह बिधानपरिषद के सदस्य सहित हजारों संख्प्नधिगणों के अलावा भारी संख्या में लोग उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन डाॅ0 रंजना त्रिपाठी ने किया।

  • अवनीश कुमार मिश्रा
Click