मुलायम सिंह के निधन पर शोक की लहर

18

रायबरेली। समाजवादी पार्टी के संरक्षक व पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के निधन की खबर से पूरे देश में शोक की लहर दौड़ गयी।

बताते चलें कि पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव काफी दिनों से बीमार चल रहे थे। उनका इलाज दिल्ली के मेदान्ता अस्पताल में चल रहा था। उनके स्वास्थ्य लाभ के लिए समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता यज्ञ हवन पूजन आदि कर उनकी दीर्घायु की कामना कर रहे थे। परन्तु सोमवार की सुबह उनके निधन की सूचना मिलते ही पूरा प्रदेश शोक में डूब गया।

पूर्व मुख्यमंत्री के निधन पर क्षेत्र के राजनीतिक, व्यापारिक, सामाजिक संगठनों ने शोक संवेदना व्यक्त की। पूर्व जिला पंचायत सदस्य व चेयरमैन प्रतिनिधि प्रभात साहू ने नेता जी के निधन पर कहाकि समाजवाद के वटवृक्ष नेताजी ने रक्षामंत्री रहते हुए शहीदों के शवों को वापस अंतिम संस्कार के लिए उनके घरों तक भेजने के प्रचलन की शुरुआत की। इससे पूर्व शहीद सैनिकों की वर्दी घर पहुंचती थी, शहीद का शव नहीं।

धार्मिक कट्टरता को लगातार चुनौती देना और ललकारना, लेखकों, कलाकारों, पत्रकारों की सुध लेना, उनके इलाज, उनके मंच, उनके आश्रय के लिए व्यवस्थाएं करना नेताजी के दरियादिल और मजबूत नेता होने का प्रमाण है।

नेताजी के निधन पर सपा विधायक श्याम सुन्दर भारती, पूर्व विधायक रामलाल अकेला, पूर्व विधायक राजाराम त्यागी, पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रभात साहू, चेयरमैन सरला साहू, विधान सभा प्रत्याशी लक्ष्मीकान्त रावत, सुशील पासी, व्यापारी सुधीर साहू, पवन साहू ने शोक जताया। 

इसके अलावा विमल रस्तोगी, माताफेर सिंह, पूर्व ब्लाक प्रमुख सत्येन्द्र सिंह, ब्लाक प्रमुख राजकुमार पासी, सांई सेवा समिति के अध्यक्ष सुनील मौर्य, महराजगंज प्रेस क्लब अध्यक्ष आनन्द सिंह, सूर्य प्रकाश वर्मा, सरदार फत्ते सिंह, कांग्रेस ब्लाक अध्यक्ष प्रदीप चौधरी, भाजपा महिलामोर्चा जिलाध्यक्ष सुधा अवस्थी, सहित क्षेत्र के सभी दलों, शिक्षकों, व्यापारियों ने मुलायम सिंह के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त की है।

रिपोर्ट- अशोक यादव एडवोकेट

Advertisement