योगी सरकार में भी महिलाओं को न्याय के लिए मौत को लगाना पड़ रहा गले

69

योगी जी की पुलिस महिलाओं को नहीं दे रही इंसाफ,महिला सशक्तिकरण को लगा रही पलीता।

इंसाफ के लिए दर-दर की ठोकरें खाने व मौत को गले लगाने को मजबूर महिलाएं।

रायबरेली , जहां एक तरफ सूबे की योगी सरकार महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए कटिबद्ध नजर आ रही है और महिला सशक्तिकरण जैसे अन्य अभियान चला रही है वहीं दूसरी तरफ महिलाओं को इंसाफ नहीं मिल रहा है,बल्कि महिलाओं को इंसाफ के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है और अब तो नौबत यहां तक आ गई है कि महिलाओं को न्याय के लिए मौत को भी गले लगाना पड़ रहा है,तब जाकर कहीं महिलाओं को न्याय मिल रहा है। एक ऐसा ही मामला प्रकाश में आया है जहां लालगंज पुलिस ने महिला सशक्तिकरण को पलीता लगाते हुए सीएम योगी के मंसूबे को तार-तार किया है। शिकायत के बाद भी न्याय न दिला पाने वाली लालगंज पुलिस महिला द्वारा न्याय के लिए जहर खाने व उच्चाधिकारियों की फटकार के बाद जागी है और तब जाकर कहीं महिला के साथ न्याय कर पाई है। जानकारी के मुताबिक लालगंज पुलिस ने शुक्रवार को सामूहिक दुष्कर्म के आरोपी वांछित अभियुक्त श्यामू सिंह पुत्र लाल बहादुर सिंह निवासी ग्राम देपारमऊ मजरे भीतरी थाना खीरों को थाना क्षेत्र से गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा है। उल्लेखनीय है कि 7 वर्षों से न्याय के लिए भटक रही दुराचार पीडिता के सब्र का बांध गुरुवार को उसे समय टूट गया जब वह एसपी की चौखट पहुंची,यहां पर मौजूद अधिकारियों की बेरुखी से आहत होकर पीड़िता ने एसपी चौखट में जहर खा लिया। महिला की हालत गंभीर होते देख पुलिस महकमें के हाथ पैर फूल गए। इसके बाद खाकी की कुंभकर्णीय नींद टूटी और आनन-फानन में मौजूद पुलिस कर्मियों ने महिला सिपाहियों की मदद से पीड़िता को जिला अस्पताल पहुंचाया,जहां पर उसका इलाज चल रहा है। उक्त घटना के बाद मामले में पुलिस ने तत्काल आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया।लालगंज थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली रेप पीड़िता लगभग 7 वर्षों से न्याय मांगने के लिए थाने और पुलिस अधीक्षक कार्यालय की गणेश परिक्रमा कर रही थी,पीड़िता ने थक हार कर गुरुवार को एक बार फिर से न्याय की गुहार लगाने के लिए पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंची,लेकिन यहां पर एक बार फिर उसे निराशा ही हाथ लगी। इतना ही नहीं जिम्मेदारों की बेरुखी से इतना आहत हो गई कि उसने तत्काल कार्यालय में ही जहर खा लिया। वहां पर मौजूद पुलिस कर्मियों ने जब उसे तड़पता देख तो सबके होश उड़ गए!महिला सिपाहियों को बुलाकर पीड़िता को तत्काल जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया। महिला का आरोप है कि खीरो थाना क्षेत्र के भीतरी गांव के रहने वाले श्यामू सिंह ब्लैकमेल कर लगातार 7 साल से उसके साथ रेप करता रहा है,इसकी शिकायत पुलिस से कर रही हूं लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही है। हालांकि गुरुवार को महिला द्वारा जहर खाकर आत्महत्या का प्रयास करने के बाद जागी लालगंज पुलिस ने शुक्रवार को आरोपी अभियुक्त को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया है। अब सवाल यह उठना है कि क्या योगी सरकार में महिलाओं को न्याय के लिए आत्महत्या जैसा गलत कदम उठाना पड़ेगा,तभी उन्हें न्याय मिल पाएगा।

रिपोर्ट- संदीप कुमार फिजा

Click