रायबरेली का रावण कौन??, 36 घण्टे बाद भी खाकी के हांथ खाली

58
Raebareli News : रायबरेली का रावण कौन | The Reports Today

रायबरेली : रायबरेली में हुए दर्दनाक कांड ने पूरे प्रदेश को हिलाकर रख दिया है, मामले का खुलासा न होने से आईजी को आज घटनास्थल का निरीक्षण करना पड़ा, 36 घण्टे बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाँथ खाली हैं, वहीं आईजी ने मीडिया से बात करते हुए कहा की मामले में अहम सुराग लगे हैं जल्द ही इस घटना का खुलासा कर दिया जाएगा, मगर जिले की हर जुबान पर पर इस बर्बर घटना के सवाल अभी बाकी हैं, फिलहाल रायबरेली की घटना का रावण अब भी पुलिस की पहुंच से दूर है।

हरचंदपुर थाना क्षेत्र में हुई बर्बर घटना

दरअसल मामला रायबरेली जिले का है जहां एक दिन पूर्व प्रयागराज लखनऊ राष्ट्रीय राजमार्ग पर हरचंदपुर थाना क्षेत्र स्थित एक ढाबे से चन्द्र कदम की दूरी पर एक युवती का अधजला शव मिला था, घटना ने पूरे प्रदेश को हिला कर रख दिया था, लाश का चेहरा इतनी बुरी तरह से जला दिया गया था कि उसकी शिनाख्त करने में चौबीस घण्टे से अधिक का समय लगये गया।

24 घण्टे बाद आईजी मौके पर

बर्बर घटना के 24 घण्टे बीतने के बाद शाम को आईजी रेंज लखनऊ एस के भगत ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और मृतका के परिजनों से पूँछताक्ष भी की, मीडिया से बात करते हुए आईजी ने कहा कि मामले में कुछ अहम सुराग हाँथ लगे है, जल्द ही मामले का खुलासा कर आरोपियों को जेल भेजा जाएगा, आईजी के मुताबिक घटना से पहले लड़की ने अपनी सहेली से कहकर अपने परिजनों को अपने ही अपहरण की झूंठी सूचना दिलाई थी, पुलिस मामले की तह तक जाने के प्रयास में लगी है।

यह भी पढ़ें

लखनऊ में हिंदूवादी नेता की गोली मारकर हत्या

परिजनों ने की फांसी की मांग

मृतका की शिनाख्त होने के बाद परिजनों ने दोषियों को पकड़कर कड़ी सजा देने की मांग की है, मृतका के परिजनों ने मांग की है कि जिस बर्बरता के साथ दोषियों ने उसकी बेटी के साथ घटना की है, दोषियों को उससे भी कड़ी सजा देकर फांसी देनी चाहिए।

असली घटनास्थल कहाँ?

फिलहाल भले ही पुलिस पूरे मामले में जल्द खुलासे की बात कह रही हो मगर कुछ ऐसे सवाल भी हैं जो पुलसिया कार्यशैली पर बड़े सवाल उठाते हैं, पुलिस शुरू से घटनास्थल को लेकर संशय में है, जहां पर मृतका का शव मिला वह जगह हाइवे के एकदम किनारे महज 50 मीटर दूरी पर स्थित है वहां पर इस तरह की घटना कारित होना दुस्साहसिक है इस बात का जिक्र पहले भी पुलिस कर चुकी है, फिलहाल अभी 36 घण्टे से अधिका का समय बीत जाने के बाद भी पुलिस के हांथ खाली ही हैं।

Advertisement