सूर्य ग्रहण से खुद का करें बचाव

4

जय श्रीमन्नारायण। आज 25 अक्टूबर को सूर्य ग्रहण है। आज 4:42 पर सूर्य ग्रहण लगेगा भारत में यह ग्रस्तास्त सूर्य ग्रहण के रूप में दृश्य होगा। यह ग्रहण यूरोप मध्य पूर्व उत्तरी अफ्रीका पश्चिमी एशिया उत्तरी अटलांटिक महासागर उत्तर हिंद महासागर में दृश्य होगा भारत में ग्रहण दिन में सूर्यास्त के पूर्व प्रारंभ हो जाएगा।

यह भारत के अधिकांश भाग से देखा जा सकेगा किंतु अंडमान और निकोबार दीप समूह और पूर्वोत्तर के कुछ भागों जैसे आईजाल डिब्रूगढ़ इंफाल ईटानगर कोहिमा शिवसागर सिलचर तमेलांग में ग्रहण नहीं दिखाई पड़ेगा। सूर्यास्त होने के कारण ग्रहण का मोक्ष भारत में दृश्य नहीं होगा।

यूनिवर्सल समय u-t के अनुसार ग्रहण का प्रारंभ दिन में 2:29 पर मध्य सायं 4:30 पर तथा मोक्ष सायं 6:32 पर होगा सिंह, धनु, वृष राशि को उत्तम फल मिलेगा।

मिथुन, कन्या, मकर को मध्यम फल मिलेगा। मेष, कर्क, तुला, वृश्चिक, मीन को अशुभ फल मिलेगा। किंतु वृष, कर्क सिंह तुला धनु और मीन राशि वाले चिंता न करें।

इसी माह में लगने वाले चंद्र ग्रहण अर्थात 8 नवंबर को इन राशियों को मध्यम फल प्रदान करेगा। कर्म कीजिए ठाकुर जी पर भरोसा रखिए जो भी होगा ठाकुर जी सब अच्छा करेंगे।

सूतक काल इस समय चल रहा है किंतु सांय काल 4:00 बजे से लोगों को चाहिए कि वह सूर्य का दर्शन न करें। दिव्य तीर्थों में स्नान इत्यादि करें, जो लोग घर पर हैं कुछ खाएं पिए नहीं।

मंदिर का पट बंद रहेगा। उसे खोले नहीं। भगवान का कीर्तन और जप इत्यादि करें। जिन्होंने अपने गुरुदेव नारायण से दीक्षा प्रदान किया है। उन मंत्रों का जप करें और रात्रि 8:00 बजे से मंदिर का साफ सफाई करके गंगाजल छिड़क करके तब किसी चीज को प्राप्त करें।

दासानुदास दास- ओम प्रकाश पांडे /अनिरुद्ध रामानुज दास।

  • अवनीश कुमार मिश्रा
Advertisement