हिंदी पखवारे पर रामानुज आश्रम में हुई कवि गोष्ठी

12

प्रतापगढ कवि कुल द्वारा रामानुज आश्रम में हिन्दी पखवारे के उपलक्ष्य में एक भव्य काव्य गोष्ठी का आयोजन हुआ। जिसकी अध्यक्षता पं.रामसेवक त्रिपाठी एडवोकेट लोकतंत्र रक्षक सेनानी” प्रशान्त ” ने किया। मुख्य अतिथि डॉ संगमलाल त्रिपाठी “भँवर” उन्मत्त संस्थान के प्रान्तीय अध्यक्ष रहे। विशिष्ट अतिथि द्वय डॉ.शाहिदा एवं डॉ.श्याम शंकर शुक्ला श्याम जी रहे।

मां सरस्वती के चित्र के समक्ष पूजन एवं दीप प्रज्वलन करने के पश्चात धर्माचार्य ओम प्रकाश पांडे अनिरुद्ध रामानुज दास ने कहा हिंदी हिंदुस्तान वासियों की आत्मा में बसती है। विश्व में बोली जाने वाली भाषाओं में दूसरे नंबर पर हिंदी है। आज हिंदी को जन जन तक पहुंचाने के लिए हमारा कर्तव्य है कि हम गोष्ठी के माध्यम से कवि सम्मेलन के माध्यम से शिक्षण संस्थाओं के माध्यम से पहुंचाने का कार्य कर सकते हैं। किंतु आज दुख इस बात का है माननीय उच्च न्यायालय में हम याचिका अंग्रेजी में ही दाखिल कर सकते हैं। सरकार को चाहिए कि इसमें परिवर्तन लाए और हिंदी में पूर्ण रूप से माननीय उच्च न्यायालय में कार्य संपन्न हो।

कार्यक्रम मै सत्येंद्र नाथ मिश्र मृदुल ,डॉ.अशोक अग्रहरी , गंगा प्रसाद पाण्डेय भावुक , कविकुल मंत्री शीतला प्रसाद सुजान एवं डॉ शेष नारायण दुबे राही रत्नेश त्रिपाठी गणेश राय डॉ अवंतिका पांडे आदि ने अपनी कविता के माध्यम से काव्य पाठ करके मंत्रमुग्ध कर दिया संचालन सुरेश नारायण दुबे एडवोकेट व्योम ने किया।

धर्माचार्य जी द्वारा रामानुज पंचांगम प्रदान कर कवियों को सम्मानित किया गया। अंत में फिल्म जगत के महान हास्य कलाकार राजू श्रीवास्तव के आकस्मिक निधन पर 2 मिनट मौन रखकर उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की गई। रिपोर्ट- अवनीश कुमार मिश्रा

Click