होटल अजय पैलेस में रेड, 11 लोग आपत्तिजनक हालत में मिले

13

लालगंज, रायबरेली। लालगंज नगर के होटल अजय पैलेस में जहां जम्मू-कश्मीर के दो संदिग्ध आतंकवादी किस्म के मुस्लिम युवक पकड़े गए हैं। वहीं नायब तहसीलदार वेद प्रकाश और चौकी इंचार्ज लोकेंद्र सिंह ने चार युवक और पांच युवतियों को भी कमरों से आपत्तिजनक हालत में पकड़ा है। लालगंज पुलिस ने 11 लोगों को हिरासत में लिया है।

रेड में जम्मू कश्मीर के दो संदिग्ध युवक और 9 युवक-युवतियां आपत्तिजनक हालत में मिले

लालगंज पुलिस को यह कामयाबी उस समय मिली जब पुलिस प्रशासन की टीम दीपावली त्योहार होने के चलते होटलों की व्यवस्थाओं को चेक कर रही थी। तभी बृजेंद्र नगर लालगंज के होटल अजय पैलेस में जम्मू कश्मीर के दो युवकों को देखकर पुलिस के होश फाख्ता हो गए और दोनों अधिकारियों ने होटल की छानबीन शुरू कर दी।

जैसे ही पुलिस टीम ने होटल के कमरों की छानबीन की तो लोग आपत्तिजनक हालत में उठकर इधर-उधर भागने लगे लेकिन चौकी इंचार्ज लोकेंद्र सिंह की पारखी निगाहों से वे बच नहीं सके और पुलिस ने आनन-फानन 11 लोगों को हिरासत में ले लिया।

जम्मू कश्मीर के पकड़े गए युवकों मे इजहार अहमद पुत्र मोहम्मद रिजक ग्राम उजहान जिला दरहाल राजौरी जम्मू कश्मीर का निवासी है और दूसरा पकड़ा गया युवक शाहिद पुत्र जावेद गांव कोकोड़ा थाना मंझा कोट राजौरी जम्मू कश्मीर का निवासी है।

वहीं पकड़े गए युवकों में सराफा मंडी निवासी कौशल सोनी, कोरिहर निवासी प्रेमलाल सहित डिहवा मजरे चांदा टीकर, नवरंग का पुरवा आलमपुर आदि आसपास के गांव के युवक युवतियां हैं।

जम्मू-कश्मीर के संदिग्ध युवकों के पकड़े जाने से पुलिस विभाग में मची खलबली

बृजेंद्र नगर लालगंज के होटल अजय पैलेस में दो कश्मीरी युवकों के पकड़े जाने से पुलिस विभाग में भी खलबली मच गई है।

आखिरकार लालगंज के एक होटल में जम्मू के संदिग्ध युवकों के ठहरने की जानकारी पुलिस को कैसे नहीं लग पाई है ।इस पर पुलिसिया कार्यशैली पर भी सवाल उठने लगे है।

वही होटल अजय पैलेस के मालिक अजय सिंह ने भी पुलिस को कश्मीरी युवकों के बारे में ना बता कर आपराधिक कृत्य को अंजाम दिया है। हालांकि पुलिस ने अभी तक ना तो होटल को सील किया है और ना ही होटल मालिक को हिरासत में लिया है। अब देखना यह है कि पुलिस आगे क्या कार्यवाही करती है।

रिपोर्ट- संदीप कुमार फिजा

Advertisement