Ankita Murder Case: अंकिता के खून के आरोपी बीजेपी नेता के बेटे के रिसॉर्ट पर चला बुलडोजर

6

Ankita Murder Case: उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल में अंकिता भंडारी (Ankita Bhandari) मर्डर केस में आरोपी बीजेपी नेता के बेटे का रिसॉर्ट ढहा दिया गया। सीएम पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर आरोपी पुलकित आर्य के रिसॉर्ट पर बुलडोजर चलाया गया। पुलकित राज्य के पूर्व मंत्री विनोद आर्य का बेटा है। 19 साल की अंकिता उसके रिसॉर्ट में रिसेप्सनिस्ट थी और वहां अनैतिक गतिविधियों का खुलासा करने की धमकी देने पर आरोपियों ने उसकी जान ले ली।

ankita bhandari murdered in rishikesh
image;bhaskar.com

Ankita Murdered: इस मामले में पुलकित के साथ उसके दो साथी अंकित उर्फ पुलकित गुप्ता और सौरभ भास्कर भी अरेस्ट हो गए हैं। पुलकित आर्य हाई प्रोफाइल सियासी परिवार से ताल्लुक रखता है। उसके पिता विनोद आर्य बीजेपी के नेता हैं और उत्तराखंड सरकार में मंत्री रह चुके हैं। वे बीजेपी OBC मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य और यूपी के सह प्रभारी भी हैं। उसके भाई अंकित आर्य उत्तराखंड OBC कल्याण आयोग के उपाध्यक्ष हैं।

ankita dead body found in canal
image credit:bhaskar.com

Ankita Missing Case: बता दें कि अंकिता भंडारी 18-19 सितंबर की रात से गायब थी। इसके बाद उसके पिता ने रिसॉर्ट पहुंच कर कर्मचारियों से पूछताछ की थी। बेटी का पता नहीं चलने पर उन्होंने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। सोशल मीडिया पर भी उसकी तलाश के लिए कैंपेन चला। पुलिस ने शक के आधार पर पुलकित से पूछताछ की। आरोपी ने अंकिता को गंगा में धकेल देने की बात कबूली। इसके बाद रेस्क्यू एजेंसियों ने अंकिता की डेड बॉडी चिल्ला पावर हाउस के पास एक नहर से बरामद की।

Ankita Bhandari: पुलिस जांच में पता चला है कि अंकिता 17 सितंबर की रात करीब 8 बजे पुलकित आर्य, उसके रिजॉर्ट मैनेजर सौरभ भास्कर और अंकित उर्फ ​​पुलकित गुप्ता के साथ ऋषिकेश गई थी। वापस आते समय तीनों आरोपी चीला रोड के किनारे शराब पीने के लिए रुके। अंकिता उनके ड्रिंक खत्म होने का इंतजार करती रही। शराब पीने के बाद तीनों लड़की से झगड़ने लगे।

Ankita Murder Case: सूत्रों की मानें, तो अंकिता ने पुलकित के रिसॉर्ट में अनैतिक गतिविधियां चलने का विरोध किया था। मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी कहा जा रहा है कि तीनों अंकिता पर अनैतिक गतिविधियों में शामिल होने का दबाव डाल रहे थे। इस पर अंकिता ने धमकी दी कि वह सभी को बता देगी कि पुलकित उस पर रिसॉर्ट के कस्टमर्स के पुलकित और उसके साथियों ने लड़की को नहर में धकेल दिया।

शक के आधार पर जब पुलिस ने पुलकित से पूछताछ की, तो उसने पुलिस को रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी को लेकर मनगढ़ंत कहानी बनाई, जो जांच में झूठी पाई गई। पुलकित से पूछताछ के बाद पुलिस ने रिसॉर्ट के कर्मचारियों से पूछताछ की।

रिसॉर्ट कर्मचारियों ने बताया कि ऋषिकेश जाते समय अंकिता इन लोगों के साथ थी, लेकिन वह इनके साथ लौटकर नहीं आई। इसके बाद पुलिस ने ऋषिकेश के रास्ते पर लगे हुए तमाम CCTV कैमरों के फुटेज चेक किए। इनसे यह बात साबित हुई कि रिसॉर्ट से जाते समय कुल 4 लोग थे, लेकिन वापस 3 ही लौटे।

Ankita Murder Case: उत्तराखंड के DGP अशोक कुमार ने बताया कि पुलिस ने मुख्य आरोपी पुलकित आर्य समेत तीनों आरोपियों ने गिरफ्तार कर लिया है। उनकी निशानदेही पर ही Ankita Murder Case: SDRF ने बैराज की नहर में शव की तलाश शुरू की थी। आरोपी पुलकित का रिसॉर्ट पास में ही था। वहीं पुलिस ने गिरफ्तार पुलकित, अंकित और सौरभ को कोर्ट में पेश किया। जहां से तीनों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

वहीं अंकिता का शव मिलने के बाद आरोपियों पर हत्या और साक्ष्य छिपाने की धाराएं बढ़ा दी गईं। मामले का खुलासा होने के बाद शुक्रवार को पुलिस ने रिसॉर्ट सील कर दिया था। इसके बाद स्थानीय लोगों ने पुलकित आर्य के रिसॉर्ट में भी तोड़फोड़ की। अब रिसार्ट को ढहा दिया गया।

peopls protest over ankita murder case

पुलिस जब आरोपियों को कोर्ट में पेश करने के लिए कोटद्वार लेकर जा रही थी। इसी दौरान बैराज पुल से आगे कोडीया में ग्रामीणों ने पुलिस की गाड़ी रोक ली और तीनों को जमकर पीटा। हालांकि, पुलिस ने बीच-बचाव कर आरोपियों को भीड़ से निकाला।

Advertisement