Dharamveer Prajapati: कारागार मंत्री धर्मवीर प्रजापति ने किया रायबरेली जेल का दौरा, कैदियों से किया सीधा संवाद, सिखाई जीने की राह

104
dharamaveer prajapati

रायबरेली। बीजेपी के कद्दावर नेता और कारागार मंत्री धर्मवीर प्रजापति (Dharamveer Prajapati) ने रायबरेली जेल का दौराकर बंदियों से सीधा संवाद किया और उन्हें जीने की राह दिखाई।

dharamveer prajapati gets guard of honour

बता दें कि कारागार एवं होमगार्ड राज्यमंत्री, स्वतंत्र प्रभार धर्मवीर प्रजापति ने जिला जेल का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जेल मंत्री को मुख्य द्वार पर गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

इसके बाद मंत्री जी ने कारागार में बन्दी कल्याणकारी एवं पुनर्वास सहकारी समिति के कार्यालय का उद्घाटन किया।

jaikl minister dharamveer prajapati

साथ ही Dharamveer Prajapati ने एक जनपद एक उत्पाद के अंतर्गत कारागार में निर्मित काष्ठ कला उत्पादों का अवलोकन किया गया। मंत्री धर्मवीर (Dharamveer Prajapati) ने जेल में ही माटी कला के प्रशिक्षण का निरीक्षण किया। इसके अलावा बैरक में निर्मित डिजाइनर दीपक और एप्रेन इत्यादि उत्पादों के प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया।

plantation by jail minister dharamveer bharti

माननीय मंत्री Dharamveer Prajapati द्वारा कारागार में गायत्री परिवार द्वारा आयोजित यज्ञ-हवन में भाग लिया गया तथा यज्ञ-हवन का प्रारम्भ कराया गया। माननीय मंत्री महोदय द्वारा कारागार में नवगृह वाटिका के पौधों का रोपड़ किया गया।

dharamveer distributes shawl

इस दौरान मंत्री जी द्वारा कारागार की महिला बैरक का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान अखिल भारतीय व्यापार मंण्डल के सौजन्य से महिला बन्दियों को शॉल वितरित किये गये। साथ ही उनके साथ रह रहे बच्चों को वस्त्र का वितरण कराया गया।

निरीक्षण के दौरान कारागार में निर्मित ब्यूटीशियन ट्रेनिंग सेंटर पार्लर में ब्यूटीशियन का प्रशिक्षण प्राप्त महिलाओं को मंत्री Dharamveer Prajapati द्वारा प्रमाण-पत्र वितरित किये गये। महिला बैरक में महिलाओं द्वारा तैयार किए गए वस्त्र आदि को बड़े इत्मिनान से देखा।

अपने दौरे में स्वतंत्र प्रभार जेल मंत्री Dharamveer Prajapati ने कारागार के “बन्दियों से सीधा संवाद” किया। जिसके दौरान मंत्रीजी ने बताया कि कोई भी बन्दी कारागार में आने पर अपने माता-पिता, भाई-बहन तथा अन्य नाते-रिश्तेदारों को असीम कष्ट देता है। यह उनके प्रारब्ध कर्मों का फल होता है।

धर्मवीर प्रजापति ने कैदियों को जीवन जीने राह बताते हुए कहा कि बन्दियों को अपने आचरण में सुधार लाना चाहिये। साथ ही कारागार में रहते हुए कारागार के विभिन्न व्यवसायों में दक्ष होकर बनने की कोशिश करनी चाहिए। उन्होंने कहाकि कारागार में संचालित विभिन्न सुधार कार्यक्रमों में सुरुचि पूर्ण ढंग से भाग लेकर कैदियों को सभ्य नागरिक बनना चाहिए।

Dharamveer Prajapati ने कैदियों को बताया कि सभी बन्दियों को गायत्री मंत्र, महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना चाहिए। साथ ही मंत्री जी द्वारा निर्देशित किया गया कि श्रीरामचरित मानस के उत्तर काण्ड में सनकादिक ऋषियों के ब्रह्मलोक प्रस्थान करने के उपरान्त भरत जी ने सन्त और असन्त के लक्षण भगवान राम से पूछे थे। तब भगवान राम ने इसके उत्तर दिए। इसका अंश कैदियों को अर्थ सहित देने का भी अधिकारियों को निर्देश दिया।

jail minister prajapati felicitated

जेल और होमगार्ड मंत्री के दौरे पर अधिकारियों द्वारा उनका सम्मान भी किया गया।

इस अवसर पर पूजा मिश्रा, अपर जिलाधिकारी वित्त, अमित कुमार, अपर जिलाधिकारी प्रशासन, वन्दना सिंह, सीओ सिटी, ब्रजेश कुमार मिश्र, होमगार्ड कमान्डेन्ट, पूर्णिमा श्रीवास्तव, नगरपालिका अध्यक्ष, त्रिलोचन सिंह छावड़ा, अध्यक्ष व्यापार मंण्डल, अमिता खुबेले, अध्यक्ष सृजन स्वालम्बन संस्था, डा रवि प्रकाश, एमपी सिंह तथा गायत्री परिवार के सदस्यगण, और कारागार अधिकारीगण वरिष्ठ अधीक्षक अविनाश गौतम, जेलर सत्य प्रकाश, उपजेलर अनिल कुमार विश्वकर्मा, उपजेलर वीरेन्द्र विक्रम सिंह, उपजेलर, ज्ञानलता पाल,  एवं अन्य अधिकारी व कर्मचारी तथा बन्दीगण उपस्थित रहे।

Advertisement