ठेकेदारों की लापरवाही से 1 साल के अंदर गई तीन बच्चों की जान,जिम्मेदार अधिकारी अनजान

221

सलोन,रायबरेली।गंगा एक्सप्रेस-वे के ठेकेदारों द्वारा की लापरवाही से सालभर एक अंदर तीसरे बच्चे की जान चली गई।मिट्टी सैम्पलिंग के लिए किए गए गड्ढे में पानी भर जाने से ननिहाल आये आठ वर्षीय मासूम की डूबने से मौत हो गई।मृतक के मामा ने आरोप लगाया है कि गंगा एक्सप्रेस-वे के ठेकेदारों द्वारा अवैध तरीके से मिट्टी खनन का कार्य किया जा रहा है।वही पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेज दिया है।जनपद प्रतापगढ़ के मुबारकपुर गांव निवासी राम मनोहर का आठ वर्षीय पुत्र नितेश कुमार सलोन कोतवाली क्षेत्र के सलीमपुर बहेरवार गांव में अपने नाना राम लखन के घर होली की छुट्टी में ननिहाल आया हुआ था।

बच्चे के मामा पिंटू ने बताया कि सोमवार की दोपहर उसका भांजा नितेश बकरी चराने गांव से बाहर गया हुआ था।काफी देर तक जब भांजा घर नही लौटा तो खोजबीन शुरू हुई।पिंटू ने बताया कि खोजबीन के दौरान एक बड़े से पानी भरे गड्ढे उसके भांजे का उतरता शव बरामद हुआ है।उसने बताया कि गंगा एक्सप्रेस-वे द्वारा अवैध तरीके से मिट्टी खनन का कार्य किया गया था।मिट्टी खनन से उस जगह गड्ढे बन गए ल और उसमें पानी भरा हुआ था।जिसमे गिर कर उसका भांजे की मौत हो गई।मृतक किशोर के मामा ने गंगा एक्सप्रेस-वे के ठेकेदारों के विरुद्ध तहरीर सौपी है।विदित हो कि एक वर्ष पूर्व भी ग्राम सभा औटहिया में ठेकेदारों की लापरवाही से दो मासूम बच्चो की मौत हो गई थी।
प्रभारी निरीक्षक जितेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि बच्चा खेलते खेलते गड्ढे में गिर गया।जिसमें डूबने से उसकी मौत हो गई।सीएचसी रोहनिया के डेडमेमो के आधार पंचायत नामा भरके पीएम के लिए भेज दिया है।

अनुज मौर्य/आशीष कुमार रिपोर्ट

Anuj Maurya

Click