वन माफिया,पुलिस और वन विभाग की मिली भगत से धरती की हरीतिमा उजाड़ने में कोई कसर नहीं बाकी

7

प्रतिबंधित पेड़ों पर दिनदहाड़े धड़ल्ले से चल रहा आरा, जिम्मेदार बेखबर।

पुलिस और वन विभाग की मिली भगत से लकड़कटों ने प्रतिबंधित पेड़ उड़ाया।

रायबरेली ,  लालगंज कोतवाली क्षेत्र के हसनापुर गांव में लकड़कटों ने वन विभाग की मिली भगत से नीम का प्रतिबंधित पेड़ काट डाला। ग्रामीणों ने इसकी सूचना वन विभाग को दी है। कटे पड़े नीम के बोटों का फोटो सोशल मीडिया में वायरल है। क्षेत्र में वनमाफियाओं का आतंक व्याप्त है। शासन प्रशासन की लाख कड़ाई के बावजूद बन माफिया प्रतिबंधित पेड़ों पर आरा चलाने से बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला कोतवाली क्षेत्र के हसनापुर गांव का प्रकाश में आया है। जहाँ आरोपियों ने एक हरे नीम के पेड़ को काट डाला।

किसी ग्रामीण ने कटे बोटों की फोटो खींचकर सोशल मीडिया में वायरल कर दिया। जिसके बाद वन विभाग के अधिकारियों में हड़कंप मच गया। वहीं स्थानीय लोगों का मानना है कि वन माफिया पुलिस और वन विभाग की मिली भगत से धरती की हरीतिमा उजाड़ने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं। क्षेत्र में नीम, आम, महुआ समेत अन्य प्रतिबंधित पेड़ काटे जा रहे हैं। इन पर सख्ती से कार्रवाई हो तो प्रतिबंधित पेड़ों की अवैध कटान पर रोक लगाई जा सकती है। मामले की जानकारी को लेकर रेंजर डलमऊ को फोन किया गया  फोन रिसीव नहीं नहीं हुआ जिसको लेकर मामले की जानकारी नहीं मिली।

रिपोर्ट- संदीप कुमार फिजा

Click