जिलाधिकारी के निरीक्षण के समय अनुपस्थित पाये गये 21 अध्यापकों का रोका गया एक दिन का वेतन

7

बाँदा—आज जिलाधिकारी के निर्देशन में जनपद के विकास खण्ड नरैनी के कुल 68 प्राथमिक/उच्च प्राथमिक विद्यालयों (कम्पोजिट) का एक साथ जिलाधिकारी अनुराग पटेल व उनके निर्देशानुसार मुख्य विकास अधिकारी, उपजिलाधिकारी नरैनी, उपजिलाधिकारी अतर्रा, तहसीलदार अतर्रा, तहसीलदार नरैनी, जिला विकास अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकरी, जिला पूर्ति अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, खण्ड विकास अधिकारी नरैनी, समस्त खण्ड शिक्षा अधिकारी एवं समस्त जिला समन्वयक, बेसिक शिक्षा विभाग व अन्य अधिकारियों द्वारा औचक निरीक्षण किया गया।
जिलाधिकारी बांदा अनुराग पटेल द्वारा आज प्रातः 08.30 बजे पूर्व माध्यमिक विद्यालय, गुढ़ाकलां का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के समय देवीशंकर त्रिपाठी परिचारक, अफशा याशमीन, शिवधीर एवं बाल किशन अनदेशक अनुपस्थित पाये गये। जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने देवीशंकर त्रिपाठी परिचारक, अफशा याशमीन, शिवधीर एवं बाल किशन अनदेशक के अनुपस्थिति के सम्बन्ध में स्पष्टीकरण मांगा गया तथा इनका एक दिवस का मानदेय भी रोका गया। जिलाधिकारी द्वारा पूर्व माध्यमिक विद्यालय, गुढ़ाकलां में छात्र-छात्राओं के उपस्थिति पंजीका का अवलोकन किया गया। निरीक्षण के समय विद्यालय में कक्षा-6 से कक्षा-8 तक कुल पंजीकृत 129 बच्चो के सापेक्ष 41 बच्चे उपस्थित पाए गये।
पूर्व माध्यमिक विद्यालय, गुढ़ाकलां में जिलाधिकारी द्वारा कक्षा-8 के बच्चों को लगभग 2 घण्टा पढ़ाया गया। कक्षा-8 के छात्र/छात्राओं से ज्मदेम कितने प्रकार के होते है और ’’बच्चें स्कूल जाते हैं’’ को ट्रान्सलेट कराया गया, परन्तु कोई भी बच्चे न तो ज्मदेम के प्रकार बता पाये और न ही ट्रान्सलेट कर पाये। कक्षा-8 की छात्रा सृष्टि शुक्ला द्वारा शुद्ध चिल्ड्रेन की स्पेलिंग लिख पाई। 17 व 19 का पहाड़ा सुना गया और 5 का भाग 39 व 0.02 का गुणा 0.02 को हल करने को दिया गया, परन्तु 02 बच्चों को छोड़कर कोई भी बच्चा पहाड़ा नहीं सुना पाये और न ही सवाल हल कर पाये। इसके साथ ही कक्षा-8 के बच्चो से हिन्दी पुस्तक के अध्याय-8 की कविता ’’धानों का गीत’’ के एक पैरा को लिखवाया गया, परन्तु 02-03 बच्चों को छोड़कर कोई भी बच्चे शुद्व हिन्दी नहीं लिख सके एवं कविता भी नहीं सुना पाये। साथ ही कक्षा-8 के कृतिका व विकास को छोड़कर डगरिया, कलगियों का अर्थ भी नहीं बता पाये। इसी प्रकार कक्षा-7 के बच्चों से देश का राष्ट्रगान, राष्ट्रगीत एवं झण्डा गीत को सुना गया, परन्तु कक्षा-7 की शिवानी को छोड़कर कोई भी बच्चे राष्ट्रगीत व झण्डा गीत तक नहीं सुना सके। विद्यालय की पठन-पाठन की स्थिति अत्यन्त खराब पाये जाने पर जिलाधिकारी नाराजगी व्यक्त करते हुये सम्बन्धित अध्यापक दिनेश सिंह, सहायक अध्यापक एवं अफशा याशमीन एवं बाल किशन अनुदेशक का स्पष्टीकरण मांगा गया तथा माह माह अगस्त, 2022 का अग्रिम आदेशों तक वेतन/मानदेेेेेेय रोका गया। साथ ही विद्यालय में बच्चों के पठन-पाठन में शिथिल पर्यवेक्षण हेतु राजदुलारी, इं0 प्रधानाध्यापक से भी स्पष्टीकरण मांगा गया। मौके पर उपस्थित अध्यापकों को 01 माह के अन्दर विद्यालय में पठन-पाठन की गुणवत्ता में सुधार लाये जाने के निर्देश दिये तथा सुधार न होने पर कड़ी कार्यवाही हेतु भविष्य के लिये सचेत किया गया। साथ ही विद्यालय में सफाई व्यवस्था संतोषजनक न पाये जाने पर जिलाधिकारी द्वारा इं0 प्रधानाध्यापक को निर्देशित किया गया कि 03 दिवस में अभियान चलाकर सम्पूर्ण विद्यालय की सफाई कराना सुनिश्चित करें।
प्राथमिक विद्याल कम्पोजिट, गुढ़ाकला का निरीक्षण।
जिलाधिकारी बांदा अनुराग पटेल द्वारा प्रातः प्राथमिक विद्यालय (कम्पोजिट), गुढ़ाकलां का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के समय प्राथमिक विद्यालय (कम्पोजिट), गुढ़ाकलां में उपस्थिति पंजीका के अनुसार कक्षा-1 से कक्षा-5 तक कुल पंजीकृत 156 बच्चो के सापेक्ष 75 बच्चे उपस्थित पाए गये।
प्राथमिक विद्यालय (कम्पोजिट), गुढ़ाकलां में कक्षा-4 व 5 के बच्चों को लगभग 1 घण्टा पढ़ाया गया। कक्षा-5 की यशोदा, खुशी सिंह, रोशनी, पवनी एवं रिया सिंह से पहाड़ा सुना गया, परन्तु खुशी सिंह को 20 तक पहाड़े को छोड़कर कोई भी बच्चे 15 तक का पहाड़ा नहीं सुना पाये और कक्षा-5 के बच्चों से गिनती में 69, 79, 89 आदि लिखवाया गया, परन्तु 02-03 बच्चों को छोड़कर कोई बच्चे लिख नहीं पाये। कक्षा-4 के बच्चों से गिनती 17 व 19 आदि लिखवाया गया, परन्तु कोई भी बच्चें न ही सुना पाये और न ही लिख पाये और कक्षा-4 के छात्र नैतिक व रागिनी द्वारा अपना नाम भी नहीं लिख पाये। इसी प्रकार कक्षा-4 व 5 के बच्चों से देश का राष्ट्रगान, राष्ट्रगीत एवं झण्डा गीत को सुना गया, परन्तु कक्षा-5 की खुशी सिंह को छोड़कर कोई भी बच्चे राष्ट्रगीत व झण्डा गीत तक नहीं सुना सके और न ही बच्चों को इस सम्बन्ध में कोई जानकारी है। साथ ही कक्षा-4 व 5 क अधिकांश बच्चों को देश का राष्ट्रगान की जानकारी नहीं थी। विद्यालय की पठन-पाठन की स्थिति अत्यन्त खराब पाये जाने पर जिलाधिकारी नाराजगी व्यक्त करते हुये सम्बन्धित अध्यापक प्रमोद कुमार सहायक अध्यापक एवं मनीष कुमार त्रिपाठी, सहायक अध्यापक का स्पष्टीकरण मांगा गया तथा माह अगस्त, का अग्रिम आदेशों तक वेतन रोका गया। साथ ही विद्यालय में बच्चों के पठन-पाठन में शिथिल पर्यवेक्षण, विद्यालय में स्थापित बालक/बालिकाओं के शौंचालय गन्दे पाये जाने आदि के सम्बन्ध में शिव कुमार सिंह, वरिष्ठ प्रधानाध्यापक का भी स्पष्टीकरण मांगा गया। साथ ही मौके पर उपस्थित अध्यापकगणों को निर्देशित किया गया कि 01 माह के अन्दर बच्चों को मानक के अनुसार पठन-पाठन की गुणवत्ता में सुधार लाया जाये। अन्यथा कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।
इसी प्रकार वेद प्रकाश मौर्य, मुख्य विकास अधिकारी द्वारा प्रा0वि0 रामनगर नगर क्षेत्र, कम्पोजिट नरैनी, विकास यादव उप जिलाधिकारी अतर्रा द्वारा अवस्थी आश्रम एवं लुधौरा, रावेन्द्र सिंह, उप जिलाधिकारी नरैनी द्वारा कम्पोजिट नहरी एवं कम्पोजिट करतल, खण्ड विकास अधिकारी, नरैनी द्वारा पू0मा0वि0 मसौनी, प्रा0वि0 कटरा कालिंजर, प्रिंन्सी मौर्या, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा प्रा0वि0 गोरेपुरवा एवं प्रा0वि0 उर्दू मीडिएम गोरेपुरवा, पू0मा0वि0 पुकारी प्रा0वि0 शंकरबाजार, प्रा0वि0 किशनीपुरवा, पू0मा0वि0 मुकेरा, गीता सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी द्वारा प्रा0वि0 बंगालीपुरवा एवं प्रा0वि0 बदौसा, राघवेन्द्र तिवारी, जिला विकास अधिकारी द्वारा प्रा0वि0 दिखितवारा एवं कम्पोजिट बसरेही, जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा प्रा0वि0 कम्पोजिट मसौनी एवं उ0प्रा0वि0 विद्यालय बघेलाबारी, जिला पूर्ति अधिकारी द्वारा कम्पोजिट संग्रामपुर एवं कम्पोजिट फतेहगंज, खण्ड शिक्षा अधिकारी महुआ द्वारा पू0मा0वि0 शहबाजपुर, पू0मा0वि0 रनखेरा, प्रा0वि0 रनखेरा, प्रा0वि0 पिपरा, प्रा0वि0 शहबाजपुर, खण्ड शिक्षा अधिकारी बबेरू द्वारा पू0मा0वि0 फौजदार का पुरवा, प्रा0वि0 देवनाथ चौरिहा पुरवा, पू0मा0वि0 गर्गनपुरवा, प्रा0वि0 लोधनपुरवा, प्रा0वि0 राजाराम चौरिहा पुरवा, खण्ड शिक्षा अधिकारी बिसण्डा द्वारा प्रा0वि0 सिंघौटी, पू0मा0वि0 नौगवां, कम्पोजिट गहबरा, प्रा0वि0 छिंगरीपुरवा, प्रा0वि0 नौगुवां, खण्ड शिक्षा अधिकारी तिन्दवारी द्वारा प्रा0वि0 पोंगरी एवं पू0मा0वि0 पोगरी, प्रा0वि0 उदयीपुरवा, खण्ड शिक्षा अधिकारी नरैनी द्वारा प्रा0वि0 बंगालपुरवा, पू0मा0वि0 देवखेर कम्पोजिट, प्रा0वि0 चकलापुरवा, प्रा0वि0 जमुनिहापुरवा, प्रा0वि0 डिमरौहापुरवा, पू0मा0वि0 पौहार, जिला समन्वयक प्रशिक्षण द्वारा प्रा0वि0 रगौली भटपुरा एवं पू0मा0वि0 रगौली भटपुरा, जिला समन्वयक सामुदायिक द्वारा पू0मा0वि0 बसरेही, पू0मा0वि0 शंकरपुरवा, प्रा0वि0 सेमरिया कुशल, प्रा0वि0 जगन्नाथ पुरवा, प्रा0वि0 बहादुर पुरवा, जिला समन्वयक एम0आई0एस0 द्वारा प्रा0वि0 बरहेण्डा, पू0मा0वि0 थनैल कम्पोजिट, प्रा0वि0 शिवराम यादव का पुरवा, प्रा0वि0 सुखदेव का पुरवा, प्रा0वि0 अतर्रा प्राचीन, जिला समन्वयक बालिका शिक्षा द्वारा पू0मा0वि0 सेमरिया कुशल, प्रा0वि0 आऊ-2, प्रा0वि0 आऊ-1, पू0मा0वि0 नगवारा कम्पोजिट, प्रा0वि0 बजरंगपुर आदि विद्यालयों में औचक निरीक्षण किया गया।
निरीक्षण के दौरान वन्दना प्र0अ0, प्रा0वि0 बंगालीपुरवा, रामबहोरी शि0मि0 प्रा0वि0 ढिमरौहापुरवा, होरीलाल सिंह अनुदेशक पू0मा0वि0 पौहार, रेखा मिश्रा शि0मि0 कम्पोजिट नहरी, रानी देवी शि0मि0 कम्पोजिट करतल, प्रा0वि0 महोतरा में कमल प्रकाश, सहायक अध्यापक एवं राजा भइया शिक्षामित्र, अरिमर्दन सिंह, स0अ0 प्रा0वि0 मसौनी, अनीता देवी शि0मि0 एवं महिमा सिंह शि0मि0 प्रा0वि0 रगौली, आनन्द त्रिपाठी पू0मा0वि0 रगौली, लक्ष्मी देवी शि0मि0 प्रा0वि0 बदौसा, रमेश कुमार सोनी शि0मि0 प्रा0वि0 गोरेपुरवा, शहीन अंजुम प्रा0वि0 उर्दू मीडिएम गोरपुरवा, जगप्रसाद शि0मि0 एवं नीलम सिंह अनुदेशक पू0मा0वि0 पुकारी कम्पोजिट, कुसुम विश्वकर्मा शि0मि0 प्रा0वि0 शंकरबाजार सहित कुल 21 प्रधानाध्यापक/सहायक अध्यापक/शिक्षामित्र एवं अनुदेशक अनुपस्थित पाये गये। जिलाधिकारी द्वारा निरीक्षण के समय अनुपस्थित पाये गये कुल 21 प्रधानाध्यापक/सहायक अध्यापक/शिक्षामित्र एवं अनुदेशक का स्पष्टीकरण मांगा गया तथा आज (एक दिवस) का वेतन/मानदेय रोकने के निर्देश जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को दिये गये। निरीक्षण के दौरान जिन विद्यालयों में छात्र उपस्थिति कम पाये जाने, सफाई व्यवस्था, शौंचालय गन्दा आदि कमियां पाई गई है, तो तत्काल सम्बन्धित विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों को कारण बताओं नोटिस निर्गत करते हुये सभी पाई कमियों को ठीक कराये जाने हेतु जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, बांदा को निर्देश दिये गये। रिपोर्ट- सुधीर त्रिवेदी

Advertisement