डीएपी की किल्लत से किसान बेहाल

13

लालगंज, रायबरेली। सरेनी-इब्राहिमपुर साधन सहकारी समिति में डी.ए.पी. खाद न आने से किसान परेशान हैं। गौरतलब है कि इब्राहिमपुर साधन सहकारी समिति उन्नाव जनपद की सीमा से जुड़े किसानों को खाद की आपूर्ति करती है। इनमें इब्राहिमपुर के अलावा रसूलपुर, काजीखेड़ा, देवपुर, उमरापुर, समोधा, रामखेड़ा, रंजीतपुर, कहिंजर आदि गांवों को खाद की आपूर्ति की जाती है।

खाद न होने से निराश लौट जाते हैं किसान

इनमें कहिंजर समेत कई गांव ऐसे भी हैं जो कि आलू उत्पादन में मिनी फर्रुखाबाद के नाम से मशहूर हैं!रसूलपुर के सुरेन्द्र भारद्वाज कहते हैं कि वे आलू की बुवाई की तैयारी कर रहे थे!जब पानी थमा तो अब डी.ए.पी. गायब है!कहिंजर के नरेंद्र सिंह 20 बीघे में आलू का उत्पादन करते हैं, किन्तु खाद न मिलने से परेशान हैं।

समोधा की प्रधान सोनी त्रिवेदी ने बताया है कि वे लगभग 5 बीघे में आलू लगाती हैं,किन्तु खाद नहीं मिल रही है!रसूलपुर के पूर्व प्रधान सुरेश सिंह का कहना है कि उनकी आलू की बुआई की तिथि 17 अक्टूबर निर्धारित थी, किन्तु खाद की किल्लत से वे अब 24 अक्टूबर को 14 बीघे खेत में आलू की बुआई करेंगे।

दूसरी ओर इब्राहिमपुर के सचिव राजेश पाण्डेय ने बताया है कि उन्होंने डी.ए.पी. के लिये चेक भेज दी है,किन्तु अभी तक डी.ए.पी. नहीं मिल पाई है!किसान रोजाना आते हैं,किन्तु खाद न होने से निराश होकर लौट जाते हैं!

रिपोर्ट- संदीप कुमार फिजा

Advertisement