अधिकारियों की कार्यशैली से खफा अधिवक्ता हड़ताल पर

14

रायबरेली। तहसील के अधिकारियों की कार्यशैली से खफा अधिवक्ताओं ने हड़ताल के तीसरे दिन परिसर में घूम घूम कर नारेबाजी की। अधिवक्ताओं द्वारा अगले 2 दिनों तक न्यायिक कार्य से विरत रहने की घोषणा के साथ ही कार्यशैली में सुधार न होने पर दो दिन बाद अनिश्चितकालीन धरने की चेतावनी दी है।

असंक्रमणीय से संक्रमणीय भूमि घोषित किए जाने की सभी पत्रावलियों को एसडीएम धीरज श्रीवास्तव द्वारा नायब तहसीलदार को भेज कर पुनः रिपोर्ट मांगी गई। जिससे अधिवक्ताओं में खासा आक्रोश है। इसी के विरुद्ध अधिवक्ताओं द्वारा सोमवार से सांकेतिक हड़ताल कर मामले का विरोध किया गया।

उसके बाद भी कोई कार्यवाही ना होते देख गुरुवार को अधिवक्ताओं का पारा चढ गया। गुरुवार सुबह एकत्रित हो अधिवक्ताओं ने पहले एसडीएम कार्यालय के सामने उसके बाद तहसील परिसर में घूम घूम कर एसडीएम के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की।

अधिवक्ता संघ के महामंत्री ज्योति प्रकाश अवस्थी व नागेंद्र सिंह ने तहसील के अधिकारी व कर्मचारियों पर कानून से इतर कार्य करने का आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसे में वाद कारियो व अधिवक्ताओं का हित प्रभावित हो रहा है।

तहसील बार एसोसिएशन के अध्यक्ष हरदेव शुक्ला व महराजगंज बार एसोसिएशन के अध्यक्ष छोटेलाल ने बताया कि अधिवक्ताओं की सहमति के आधार पर 2 दिन के लिए न्यायिक कार्य से विरत रहने का निर्णय लिया गया है। यदि अधिकारियों की कार्यशैली में सुधार न आया तो अनिश्चितकालीन आंदोलन किया जाएगा।

नारेबाजी के दौरान विद्यासागर अवस्थी, धीरेंद्र सिंह सुशील कुमार पांडेय, सुरेंद्र श्रीवास्तव ,देवी प्रसाद, सतीश द्विवेदी, शिव सागर ,पंकज श्रीवास्तव, आदि दर्जनों अधिवक्ता मौजूद रहे।

रिपोर्ट-अशोक यादव एडवोकेट

Advertisement