लालगंज तहसील में फरियादियों से टैक्सी स्टैंड के नाम पर वसूली

95

लालगंज, रायबरेली। लालगंज तहसील आने वाले फरियादी व किसानों को न्याय मिलने की जगह टैक्सी स्टैंड रूपी जजिया कर से भी अब गुजरना पड़ेगा। मंगलवार को एसडीएम अजीत प्रताप सिंह और तहसीलदार ज्ञान प्रताप सिंह ने बाकायदा तहसील साइकिल स्टैंड का उद्घाटन कर जजिया कर वसूलने की अनुमति दे दी है।

  • अधिकारी, कर्मचारी, अधिवक्ता, मुंशी, बैनामा लेखक आदि सभी को मिलेगी छूट
    योगी सरकार के द्वारा घोषित लक्ष्य सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास कैसे पूरा होगा

तहसील गेट पर ही कुर्सी डालकर ठेकेदार बैठ गया है और उसने रेड बोर्ड की लिस्ट भी लगा दी है ।साइकिल के लिए 5 रुपए,बाइक के लिए 10 रुपएऔर दो पहिया वाहन के लिए 20 रुपए वसूले जाएंगे। साथ ही अंदर वाहन ले जाने पर 100 रुपए जुर्माना भी किया जाएगा और यह भी केवल गांव गरीब किसान के लिए ही लागू है।

तहसील अधिकारी कर्मचारी, अधिवक्ता ,मुंशी, बैनामा लेखक आदि सभी के लिए छूट है।वास्तव में अगर तहसील आने वाले फरियादियों या किसानों को समय से न्याय मिल जाए तो उन्हें टैक्स देने में कोई दिक्कत नहीं आएगी। लेकिन एसडीएम 12 बजे के बाद जनता से मिलते नहीं हैं ।

लेखपाल कानूनगो समय से किसानों का काम करते नहीं है। कोर्ट में भी फरियादियों को तारीखों पर तारीखें ही मिलती है जिसके चलते तहसीलों में आए दिन भीड़ बनी रहती है। तहसील दिवसों के भी प्रार्थना पत्रों पर केवल खानापूरी होती है जिसके चलते फरियादी हर तहसील दिवस में प्रार्थना पत्र देने को मजबूर रहता है। ऐसे में योगी सरकार के द्वारा घोषित लक्ष्य सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास कैसे पूरा होगा।

रिपोर्ट- संदीप कुमार फिजा

Advertisement