लॉकडाउन में योगी सरकार ने दी बड़ी राहत

81

कोरोना वायरस के चलते लॉक डाउन से पूरे देश मे अनिश्चितता का माहौल है। लोग जहां हैं जैसे है अपने गजर तक पहुचने के लिए परेशान हैं। परेशानी का आलम ये है कि लोग सात से आठ सौ किलोमीटर की पैदल यात्रा कर घरों के किये निकल पड़े थे। ऐसे हजारों लोगों को परेशान देख कर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बड़ा राहत भरा फैसला किया है। ऐसे लोगो को मुसीबत से निकालने के लिये कमर कस चुकी योगी सरकार ने राहत के कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। इसकी बानगी लखनऊ में देखने को मिली जहां यूपी पुलिस के डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी समेत सभी पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी लखनऊ के चारबाग बस स्टेशन पर लोगों की मदद कर रहे हैं। इतना ही नहीं प्रशासनिक अफसर बस स्टैंड पर फंसे लोगों की मदद को बस भी चलवा रहे हैं, ताकि किसी को कोई दिक्कत ना आने पाए।

जानकारी के मुताबिक, लॉक डाउन के दौरान के चारबाग से यात्रियों की सुविधा के लिये बस की व्यवस्था की गई है। ताकि हर कोई अपने गंतव्य तक पहुँच सके। कानपुर, बलिया, बनारस, गोरखपुर, आजमगढ़, फैजाबाद, बस्ती, प्रतापगढ़, सुल्तानपुर, अमेठी, रायबरेली, गोंडा, इटावा, बहराइच, श्रावस्ती, ऐसे कई जिलों की बसें यात्रियों को बैठाकर भेजी गई हैं। इतना ही नहीं डीजीपी खुद चारबाग जाकर लोगों की मदद के निर्देश दे रहे हैं

शनिवार की सुबह ही डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी, लखनऊ पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय के साथ चारबाग पहुंचे। जहां उन्होंने लोगो को खाने और पानी व्यवस्था भी की। डीजीपी ने खाने के पैकेट और पानी बोतलें लोगों को दिन, ताकि किसी को कोई दिक्कत ना होने पाए। और सभी लोग अपने घर सकुशल पहुंच जाएं।

लखनऊ पुलिस कर रही हर इंतजाम

कोरोना वायरस से जंग जीतने के लिए पूरे देश में लॉक डाउन किया गया है ताकि वायरस अपने पैर ना पसार सके। इस लॉक डाउन से सबसे ज्यादा फ़र्क मजदूरों और उन लोगों को हुए है, जोकि रोज की कमाई से घर चलाए हैं, सड़क किनारे खड़े ठेलों पर खाना खाकर अपना पेट भरते हैं। ऐसे लोगों की मदद को हर जिले में पुलिस आगे आती है। हम आपको दिखा रहे हैं लखनऊ की तस्वीरें जहां पुलिसकर्मी खुद आगे आकर बेसहारा लोगों का सहारा बन रहे हैं, उन्हें खाना खिला रहे हैं।

Click